Breaking News

एसबीआई ने अपने ग्राहकों की सुविधा के लिए उठाया ये बड़ा कदम, एक बार आप भी जान ले…

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने अपने खाताधारकों को फिशिंग हमलों के प्रति आगाह किया है। कोरोनावायरस महामारी के बाद घर में रहकर नेट बैंकिंग का इस्तेमाल करने से ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामलों में वृद्धि हुई है।

एसबीआई के 7 करोड़ 50 लाख ग्राहक इंटरनेट बैंकिंग सुविधाओं का उपयोग कर रहे हैं, जबकि 1 करोड़ 70 लाख के करीब मोबाइल बैंकिंग सेवाओं का उपयोग कर रहे हैं। एसबीआई ने ट्वीट में लिखा, ”फिशर्स से सावधान रहें! इंटरनेट पर आपको मिलने वाले सभी संचार से सतर्क रहें. सुरक्षित रहने के लिए इन सरल सुरक्षा उपायों का पालन करें.”

क्या है फिशिंग फिशिंग के जरिए आपको नकली ईमेल, वेबसाइट का उपयोग करके फंसाया जाता है. हैकर आपको नकली ईमेल भेजकर जॉब या किसी अन्य प्रकार का लालच देने की कोशिश करते हैं.

जब आप उस मेल या भेजे गए लिंक को खोलते हैं तो आपसे पर्सनल जानकारी, जैसे- बैंक खाता संख्या, नेट बैंकिंग पासवर्ड, क्रेडिट कार्ड नंबर, व्यक्तिगत पहचान का ब्योरा आदि मांगा जाता है. हालांकि वह देखने में रियल लगता है लेकिन असल में वह नकली होता है. हैकर्स फिशिंग के जरिए ऑनलाइन धोखाधड़ी को अंजाम देते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *