Breaking News

 दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने नवजात मासूम बच्ची को कुत्तों के चंगुल से छुड़ाया

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने इन्सानित  इन्सानियत का परिचय देते हुए एक नवजात मासूम बच्ची को ना केवल कुत्तों के चंगुल से छुड़ाया बल्कि समय रहते गए अस्पताल पहुंचाकर उसे एक नयी जिंदगी दी दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने आर के खन्ना स्टेडियम (होज खास) के पास झाड़ियों से एक नवजात बच्ची को बरामद किया है दरअसल, बुधवार शाम 4 बजे स्टेडियम के पास कुछ ट्रैफिक पुलिसकर्मी ड्यूटी पर तैनात थे, तभी उन्होंने झाड़ियों के पास कुत्तों के भौंकने की आवाज सुनी जब ट्रैफिककर्मी वहां पहुंचे तो उन्हें झाड़ियों में एक नवजात बच्ची पड़ी दिखी पुलिसवालों ने तुरंत बच्ची को उठाकर सफदरजंग अस्पताल में भर्ती करवाया जहां फिल्हाल उसका उपचार चल रहा है

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के तीन कांस्टेबल प्रवीण सिंह,अमर सिंह  अनिल कुमार  अफीका एवेन्यू रोड पर ड्यूटी कर रहे थे तभी वहीं पहले कुत्ते भोंकने की आवाज़ सुनाई दी, ड्यूटी पर व्यस्त पुलिस कर्मी ने पहले तो इग्नोर किया   लेकिन जब एक बच्ची के रोने की आवाज़ सुनाई दी फिर तीनों कांस्टेबल बच्ची को ढूढ़ने में लग गए

ढूंढ़ने पर बच्ची झाड़ियों में गुलाबी कपड़े से लिपटी हुई थी  खूब रो रही थी  तभी प्रवीण कॉन्स्टेबल ने बच्ची को गोद मे उठाकर फर्स्ट एड दिया फिर 100 नंबर कॉल कर लोकल पुलिस को सूचना दी   बच्ची को तुरंत सफदरजंग अस्पताल मे भर्ती कराया गया फिल्हाल बच्ची की हालत सामान्य है

इस मामले में दिल्ली पुलिस ने सफदरजंग एन्क्लेव थाने में मुकदमा दर्ज कर बच्ची के माता पिता की तलाश कर रही है बड़ा सवाल की जहां बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा दिया जाता है वहीं राजधानी दिल्ली के एक दिन की मासूम को उसके अपने ही फेंक दिया गया क्या इस मासूम को बेटी होने की सज़ा मिली है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *