Breaking News

अस्थाना के खिलाफ सीबीआई में मामला दर्ज होने के बाद नेताओं के कलेजे को पहुंची ठंडक

सरकार मुश्किल में हैं। यह नया कोड वर्ड है। मंत्रालय, सचिवालय में खूब चल रहा है। सीबीआई ही नहीं ईडी में भी रार चल रही है जो कभी भी नया रूप ले सकती है। बताते हैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के करीब होने का दावा करने वाले अफसरों के खिलाफ अब संस्थानों में आवाज तेज होने लगी है। सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना एक तरह से सीबीआई चला रहे थे। अब सीबीआई उनको चला रही है।

Image result for कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह नई सांसत में रहे चल

अस्थाना के सारे अधिकार लेकर निदेशक आलोक वर्मा ने एडिशनल डायरेक्टर एके शर्मा को दे दिया। इतना ही नहीं राकेश अस्थाना के सताए अजय बस्सी के पास ही उनके खिलाफ सीबीआई में जांच का जिम्मा है। यह भी राकेश अस्थाना के लिए परेशानी का सबब है। परेशानी इसलिए भी कि अस्थाना को काफी उम्मीद थी, लेकिन पीएमओ ने फिलहाल स्थिति की गंभीरता को देखकर खामोशी ही उचित माना है।

कलेजे को ठंडक
राकेश अस्थाना के खिलाफ सीबीआई में मामला दर्ज होने के बाद कई नेताओं के कलेजे को ठंडक पहुंची है। राकेश अस्थानान ने चारा घोटाला मामले की जांच में लालू प्रसाद यादव को एसी में पसीना ला दिया था। इसी तरह से बसपा प्रमुख मायावती भी सीबीआई की अनावश्यक दबंगई से तंग थीं। बताते हैं इस तरह के तमाम नेताओं के कलेजे को काफी ठंडक पहुंची है। लालू प्रसाद की बेटी मीसा भारती और उनके परिवार की सेवा में तैनात सूत्र के मुताबिक राकेश अस्थाना की मुश्किल बढ़ती देखकर मीसा भारती का परिवार काफी खुश था।

बसपा सुप्रीमो के लखनऊ स्थित आवास पर तैनात एक सदस्य का कहना है कि जो जैसा करता है, एक न एक दिन उसे वैसा ही भरना पड़ता है। यही कुदरत का न्याय है। सूत्र का कहना है कि चाहे तो आप राकेश अस्थाना से पूछ लें। इस समय उन्हें पता होगा किसी को फंसाने और गिरफ्तारी की तलवार लटकाने के बाद उसे कितना दर्द होता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *