Breaking News

तांत्रिक बोला घर में खजाना गड़ा है, इसके बाद वहां जो हुआ वो आगे जानिए….

दिल्ली निवासी एक व्यक्ति से घर में नकली तांत्रिक बनकर दो लोगों ने घर में करोड़ों रुपये का खजाना गड़ा होने की बात कही। इसके बाद वहां जो हुआ वो आगे जानिए….युवकों ने खजाना गड़ा होने का झांसा देकर लाखों की ठगी करने के मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है जबकि दो आरोपी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ सके।

पुलिस फरार दोनों आरोपियों के बारे में जानकारी जुटा रही है। पकड़े गए आरोपी मूल रूप से सहारनपुर के रहने वाले हैं और वर्तमान में देहरादून में रह रहे थे। बुधवार को कलियर थाने में एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने प्रेसवार्ता कर ठगी की वारदात का खुलासा किया।

उन्होंने बताया कि 20 जनवरी 2018 को संजय पुत्र जयदयाल दुआ निवासी 1/29 डबल स्टोरी विजयनगर, दिल्ली ने घर में करोड़ों का खजाना गड़ा होने के नाम पर लाखों की ठगी की शिकायत कलियर थाने में की थी।

शिकायत में बताया कि दिसंबर 2017 में उनके घर में कुछ परेशानी चल रही थी। इसी दौरान किसी परिचित ने सहारनपुर में रहने वाले मुकर्रम पुत्र सिकंदर निवासी पठानपुरा झंझेड़ी, थाना बेहट के बारे में बताया कि वह झाड़-फूंक कर घर की परेशारी दूर कर देंगे।

धोखे से नकली अशर्फियां और मोबाइल में एक रिकार्डिंग चालू कर दी

इस पर उन्होंने मुकर्रम से संपर्क किया और उसे अपने घर दिल्ली ले गया। यहां उसने झाड़-फूंक के नाम पर 50 हजार रुपये लिए थे। एसपी देहात ने बताया कि पार्टी मोटी होने पर मुकर्रम ने सलीम पुत्र आलिम निवासी ग्राम रावणपुर, थाना चिकलाना, सहारनपुर हाल निवासी प्रगति विहार सेलाकुई, देहरादून, साबिर पुत्र शब्बीर निवासी हलवाहेड़ी, थाना बहादराबाद हाल निवसी पीठ बाजार, सेलाकुई, देहरादून और काजी उर्फ भूरा निवासी मुरादाबाद से संपर्क किया।

इसके बाद चारों दिल्ली पहुंचे और पूजापाठ के बहाने गड्ढा खुदवाकर धोखे से नकली अशर्फियां और मोबाइल में एक रिकार्डिंग चालू कर रख दी। इसके बाद संजय को रिकार्डिंग सुनाकर घर में ऊपरी हवा होने की बात कही। एसपी ने बताया कि चारों ने संजय को विश्वास में लेकर कलियर में अमेरिकन दुंबों की बलि के नाम पर करीब साढ़े तीन लाख रुपये ले लिए।

इसके बाद चारों फिर संजय के घर पहुंचे और जमीन में तीन अलग-अलग डिब्बों को घर में गाड़ दिया और बताया कि डिब्बों में 81 किग्रा 700 ग्राम खजाना है। इसे निकालने के नाम पर पूजा-पाठ के लिए फिर से चार लाख 30 हजार रुपये ले लिए।

इसके बाद उन्होंने बताया कि खजाने में उनका दो करोड़ का हिस्सा है। दो करोड़ मिलने के बाद ही वह खजाना निकालेंगे। साथ ही 20 लाख रुपये तत्काल मांगे। इतनी बड़ी रकम तत्काल नहीं होने पर चारों ने घर में रखे करीब छह लाख रुपये ले लिए और संजय के बेटे को कार से लेकर सहारनपुर की ओर चल दिए।

दो साल पहले सहारनपुर में की थी ठगी

चारों उससे रास्ते में मारपीट कर फरार हो गए। एसपी देहात ने बताया कि केस दर्ज करने के बाद मामला दिल्ली का होने पर उसे दिल्ली ट्रांसफर कर दिया था, लेकिन दिल्ली पुलिस ने उसे वापस भेज दिया। तभी से पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही थी।

एसपी देहात ने बताया कि मंगलवार को पुलिस को सूचना मिली थी कि सलीम और साबिर कलियर में हैं। पुलिस ने घेराबंदी कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया। मुकर्रम और काजी उर्फ भूरा की तलाश की जा रही है।

एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने बताया कि आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि इसी तरीके से उन्होंने वर्ष 2016 में सहारनपुर के गोटेशाह चौक निवासी हाजी परवेज से सात लाख की ठगी की थी। साथ ही घर में खजाना बताते हुए हाजी परवेज की 50 बीघा जमीन अपनी पत्नियों के नाम करा ली थी। एसपी देहात के अनुसार, आरोपियों ने बताया कि पंजाब और हरियाणा में भी वे इस तरीके की वारदात कर चुके हैं।

पुलिस टीम में ये रहे शामिल 
थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार, एसआई तसलीम आरिफ समेत एहसान अली, अकबर अली, बृजमोहन, देवी प्रसाद, अरविंद रावत, मनीषा और सीआईयू से प्रभारी रविंद्र कुमार, सुंदरलाल, अशोक और महिपाल।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *