Breaking News

इंडियन पुरुष हॉकी टीम एशियन चैंपियंस ट्रॉफी के अपने पहले मैच में भिड़ेगी ओमान से

इंडियन पुरुष हॉकी टीम एशियन चैंपियंस ट्रॉफी के अपने पहले मैच में गुरुवार को मेजबान ओमान से भिड़ेगी गत विजेता हिंदुस्तान के लिए यह मैच लय हासिल करने के लिहाज से बहुत ज्यादा अहम होगा टीम का हालिया प्रदर्शन निराशाजनक रहा है उसे एशियन गेम्स में कांस्य पदक से संतुष्ट होना पड़ा था ऐसे में सुल्तान काबूस स्पोटर्स कॉम्पलेक्स में होने वाला यह मैच हिंदुस्तान के लिए आत्मविश्वास हासिल करने के नजरिए से अहम है

Image result for इंडियन पुरुष हॉकी टीम एशियन चैंपियंस ट्रॉफी के अपने पहले मैच में भिड़ेगी ओमान से

भारत ने करीब दो महीने पहले ओमान को 7-0 से मात दी थी यह मुकाबला इंडोनेशिया के जकार्ता में खेले गए एशियन गेम्स में हुआ था हिंदुस्तान की तब की टीम  मौजूदा टीम में एक बड़ा अंतर है तब इंडियन टीम में पूर्व कप्तान  बेहतरीन मिडफील्डर सरदार सिंह शामिल थे अब वे संन्यास ले चुके हैं हिंदुस्तान को इस टूर्नामेंट में मिडफील्ड में उनकी कमी खलेगी

सरदार सिंह की भरपाई करने का मुख्य जिम्मा कप्तान मनप्रीत सिंह पर ही होगा वे टीम के कप्तान भी हैं ऐसे में यह देखना रोचक होगा कि मनप्रीत यह दोहरी जिम्मेदारी कैसे संभालते हैं  मैदान पर संतुलन कैसे बनाते हैं हिंदुस्तान को अपने दूसरे मैच में चिर प्रतिद्वंद्वी पाक से 20 अक्टूबर को भिड़ना है

पहले मैच में इस बात का अंदेशा लग जाएगा कि हिंदुस्तान को कहां कार्य करने की आवश्यकता है  यह बात टीम को कोच हरेंदर सिंह को भी मालूम है कोच का भी मानना है कि पहला मैच आने वाले मैचों की तैयारी के लिए अहम है कोच ने कहा, ‘पहला मैच हमें मलेशिया, पाकिस्तान, दक्षिण कोरिया के विरूद्ध होने वाले कठिन पूल मैचों की तैयारी के लिए अपने आप को परखने का मौका देगा हमारे लिए यह महत्वपूर्ण है कि हम टूर्नामेंट की आरंभ बुनियादी चीजों को सही करते हुए करें  आने वाले मैचों के लिए लय हासिल करें ’

एशिया कप के दौरान टीम में बहुत ज्यादा कमियां देखी गई थीं शुरुआती मैचों में टीम ने सरल मुकाबलों में दनादन गोल किए थे लेकिन अहम मुकाबलों में टीम दबाव में बिखर गई थी एक  समस्या संयोजन में देखने को मिली थी आक्रमणपंक्ति, मिडफील्ड  डिफेंस में सही संयोजन देखने को नहीं मिला था तो वहीं टीम की फिनिशिंग  सर्किल के अंदर गेंद को अपने पास न रख पाना भी एक बड़ी समस्या थी

कोच हरेंदर का भी मानना है कि टीम को अच्छा करने के लिए अपनी पुरानी गलतियों से सीखना होगा  गलतियां कम करनी होंगी उन्होंने कहा, ‘हम जानते हैं कि हमारी टीम बहुत ज्यादा अच्छी है जो विश्व की किसी भी टीम को मात दे सकती है, लेकिन कई बार चीजें आपके हित में नहीं होती हैं टीम के लिए यह महत्वपूर्ण है कि टीम अपना पूरा ध्यान 60 मिनट पर लगाए  दूसरी टीम को मौके नहीं दे हमें इस बात को सुनिश्चित करना होगा कि हम वो गलतियां न दोहराएं जो हमने एशियाई खेलों में की थीं ’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *