Breaking News

मोदी ने गरीब जनता का पैसा उद्योगपति अनिल अंबानी की जेब में डाला राहुल गांधी

राहुल गांधी ने भारत एरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के सेवानिवृत्त  वर्तमान कर्मचारियों से शनिवार को बंगलूरू में मुलाकात की. जिसमें उन्होंने बोला कि राफेल आपका अधिकार है. मोदी गवर्नमेंट को आरोपी बताते हुआ बोला कि उन्होंने पब्लिक सेक्टर यूनिट (पीएसयू) की फाइटर प्लेन बनाने की क्षमता पर शंका जाहिर करके उनका अपमान किया है. उन्होंने बोला कि इससे राष्ट्र का अनादर हुआ है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गरीब जनता का पैसा उद्योगपति अनिल अंबानी की जेब में डाल दिया है. पीएम मोदी पर आरोप लगाते हुए बोला कि उनके करप्शन की वजह से हजारों लोगों की जॉब चली गई है. कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने पब्लिक सेक्टर यूनिट का जिक्र करते हुए बोला कि विपक्ष गवर्नमेंट को नए हिंदुस्तान के मंदिरों को खंडित करने नहीं देगी.

गांधी के दौरे से पहले एचएएल ने एक आदेश पारित किया था जिसमें कर्मचारियों को इस प्रोग्राम में शिरकत करने से मना किया गया था. राहुल ने कहा, ‘नए हिंदुस्तान के मंदिरों के साथ क्या हो रहा है, उनपर हमला करके उन्हें खंडित किया जा रहा है. लेकिन हम इसे होने नहीं देंगे. आपने 70 वर्ष से ज्यादा कार्य किया है. यदि कोई सोचता है कि वह आपकी कब्रगाह पर भविष्य बना सकता है तो ऐसा करने को मंजूरी नहीं दी जाएगी.

राहुल ने बोला कि पीएम मोदी जी  अनिल अंबानी जी के करप्शन की मूल्य राष्ट्र के हजारों इंजीनियरों को चुकानी पड़ी है. मैं साफतौर पर कहना चाहता हूं कि इस सौदे के लिए घूस दी गई है. गवर्नमेंट ने एचएएचल की बजाए अनिल अंबानी को क्यों कांट्रैक्ट दिया जिसपर 35000 करोड़ रुपये का कर्ज है. जबकि एचएएल ने पिछले 75 वर्षों में एयरक्राफ्ट बनाने की अपनी क्षमताओं को साबित किया है.

गांधी ने बोला ‘एचएएल सिर्फ एक कंपनी नहीं है. जब हिंदुस्तान को आजादी मिली थी तब राष्ट्र ने कुछ खास क्षेत्रों में छलांग लगाने की रणनीति बनाई थी, एचएएल अंतरिक्ष के एरियामें हिंदुस्तान को स्थापित करने वाली अहम कंपनी है. राष्ट्र हमेशा इस कंपनी का कर्जदार रहेगा. कांग्रेस पार्टी एचएएल के साथ है  वह राफेल सौदे को उसके पास लेकर आएगा.हिंदुस्तान के पीएसयू जैसे कि एचएएल, डीआरडीओ, एनएएल  इसरो राष्ट्र के आधार हैं  हम उन्हें बचाने के लिए सबकुछ करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *