Breaking News

U-19 एशिया कप का खिताब दिलाने में हर्ष त्यागी ने अहम भूमिका निभाई

भारतीय टीम को छठी बार U-19 एशिया कप का खिताब दिलाने में हर्ष त्यागी ने अहम भूमिका निभाई। बाएं हाथ के इस स्पिनर ने फाइनल में श्रीलंका के खिलाफ 6 विकेट चटकाकर विपक्षियों की कमर ही तोड़ दी।


नतीजतन भारतीय युवाओं ने बांग्लादेशी सरजमीं पर 144 रन के विशाल अंतर से खिताब अपने नाम किया। बांग्लादेश से लौटने के बाद हर्ष त्यागी ने अमर उजाला से खास बातचीत की। इस दौरान 18 वर्षीय इस जूनियर सितारें से हुई बातचीत के कुछ अंश
फाइनल के लिए क्या प्लान था?
हम पहले से ही काफी आत्मविश्वास के साथ भरे हुए थे। पूरे टूर्नामेंट में हमने एक भी मैच नहीं गंवाया था, ऐसे में कोच और पूरे सपोर्टिंग स्टाफ ने यही बोला कि आखिरी मैच को भी किसी आम मुकाबले की तरह खेलना है। आप लोग बस अपना शत प्रतिशत दो, रिजल्ट जो भी होगा देखा जाएगा। शायद इसी गुरूमंत्र ने फाइनल की जीत और आसान बना दी।

क्या बल्लेबाजों का 300+ स्कोर बनाना गेंदबाजी आसान कर गया?
बिलकुल हमारे बल्लेबाजों ने चढ़ कर खेला। 304 रन बनाने के बाद हमारा आत्मविश्वास वैसे ही ऊपर था। वैसे भी फाइनल में दबाव ज्यादा होता है। लक्ष्य का पीछा करना वैसे भी अंडर लाइट मुश्किल होता है। हमारी बॉलिंग और फिल्डिंग साइड काफी अच्छी थी। जिस प्लान के साथ हम उतरे थे वो ठीक वैसे ही मैदान पर भी उतारा इसलिए इतनी आसान जीत मिली।
इस खिताबी जीत को कैसे सेलिब्रेट किया?
ड्रेसिंग रूम में स्पीकर्स में गाने चलाकर जमकर डांस किया। फिर फोटो सेशन में खूब धमा-चौकड़ी मचाई। ग्राउंड पर तो इंटरनेट नहीं चल रहा था। होटल आने के बाद वाई-फाई से फोन कनेक्ट करते ही मैसेजेस की बाढ़ आ गई। कई फोन कॉल्स आए। अच्छा लगा, सेलिब्रिटी वाली फिलिंग आ रही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *