चीन ने माना कि जांच के दायरे में हैं लापता इंटरपोल चीफ

इंटरपोल के लापता चीफ मेंग होंगवेई ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। वैश्विक पुलिस संगठन (इंटरपोल) की तरफ से जारी बयान के अनुसार, रविवार को लियोन में इंटरपोल के महासचिवालय को मेंग का इस्तीफा मिला, जिसमें उन्होंने तत्काल प्रभाव से पद छोड़ने की घोषणा की है।

इंटरपोल ने कहा कि दक्षिण कोरिया के किम जोंग यांग को फिलहाल कार्यवाहक अध्यक्ष बनाया गया है। संगठन के नए अध्यक्ष का चुनाव दुबई में 18 से 21 नवंबर तक होने वाली बैठक के दौरान किया जाएगा। हालांकि चीनी मूल के मेंग के इस्तीफे को चीन के दबाव में उठाया गया कदम माना जा रहा है। र

विवार को ही सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना की भ्रष्टाचार व राजनीतिक द्रोह पर निगरानी रखने वाली अनुशासन समिति ने मेंग को लेकर बयान जारी किया था।

इस बयान में मेंग को चीन में कई कानूनों के उल्लंघन के आरोप में नई भ्रष्टाचार निरोधक संस्था द नेशनल सुपरविजन कमीशन की निगरानी में होने की बात कही गई थी। इसके कुछ घंटे बाद ही मेंग का इस्तीफा इंटरपोल को भेज दिया गया। 2016 में चीनी मूल वाले इंटरपोल के पहले अध्यक्ष बने 64 वर्षीय मेंग चीन के सार्वजनिक सुरक्षा मंत्रालय के उपमंत्री भी हैं।

उधर, रविवार को ही मेंग की पत्नी ग्रेस मेंग ने लियोन में एक प्रेस वार्ता कर अपने लापता पति की जान को खतरा होने की संभावना जताते हुए फ्रांसीसी सरकार से इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की थी।

इंटरपोल के चीफ मेंग होंगवेई के अपने यहां लापता होने के बावजूद अभी तक चुप बैठे चीन ने आखिरकार मौन तोड़ दिया है। चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी की अनुशासन समिति ने यह मान लिया है कि इंटरपोल चीफ कुछ कानूनी उल्लंघनों के चलते जांच के दायरे में हैं। हालांकि उनके गिरफ्तार होने या नहीं होने पर कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया गया है। बता दें कि 2016 में इंटरपोल के पहले चीनी अध्यक्ष बने मेंग 25 सितंबर से लापता हैं। 64 वर्षीय मेंग चीन के सार्वजनिक सुरक्षा मंत्रालय के उपमंत्री भी हैं और वहां उनके खिलाफ कई मामलों में जांच चल रही है।

रविवार को कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना में भ्रष्टाचार व राजनीतिक द्रोह पर निगरानी रखने वाली अनुशासन समिति ने अपनी वेबसाइट पर कहा कि मेंग होंगवेई पर कुछ कानूनों के उल्लंघन का संदेह है और वे फिलहाल चीन की नई भ्रष्टाचार निरोधक संस्था द नेशनल सुपरविजन कमीशन की निगरानी और जांच के दायरे में हैं। समिति का यह बयान इंटरपोल के शनिवार को यह कहने के बाद आया है कि उन्होंने मेंग के बारे में जानकारी देने के लिए चीन से अधिकृत आग्रह किया है।

पत्नी ने बताया जान को खतरा, फ्रांस से हस्तक्षेप का आग्रह किया

उधर, मेंग की पत्नी ग्रेस मेंग ने रविवार को लियोन में एक प्रेस वार्ता की और अपने लापता पति की जान को खतरा होने की संभावना जताई। साथ ही फ्रांसीसी सरकार से इस मामले में हस्तक्षेप करने का आग्रह किया। बता दें कि इस दक्षिण-पूर्वी फ्रांसीसी शहर में ही इंटरपोल का मुख्यालय भी है। ग्रेस मेंग ने पत्रकारों से कहा कि 25 सितंबर को मेंग ने उन्हें आखिरी सोशल मीडिया संदेश भेजा था, जिसमें इकलौती इमोजी बनी हुई थी। इसका अर्थ था कि मैं खतरे में हूं। ये मामला अंतरराष्ट्रीय समुदाय से जुड़ा हुआ है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button