Breaking News

फ्रांस की जेल से हेलीकॉप्टर से भागने वाला कुख्यात अपराधी हुआ अरेस्ट

फिल्मी अंदाज में जेल के सुरक्षा घेरे को तोड़ कर हैलीकॉप्टर से भागा कुख्यात अपराधी रिडूइने फैयद को आखिरकार फांसीसी पुलिस ने धर दबोचा। 46 वर्षीय फैयद जिस करह से नाटकीय अंदाज से जेल से फरार हुआ था ठीक उसी तरह ड्रामेबाज की तरह बुर्का पहने धरा गया। तीन महिने से फरार चल रहा फ्रांस का लोकप्रिय अपराधी पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ था।

फ्रांस के जांचकर्ता फ्रैंकोइस मॉलिंस ने बताया कि फैयद को पेरिस शहर के उत्तरी इलाके में अपने भाई और एक भतीजे के साथ देर रात गिरफ्तार कर लिया गया। आखिर पुलिस को छुपे अपराधी रिडूइने फैयद को पकड़ने में किस तरह कामयाबी मिली? इसका जवाब देते हुए जांचकर्ता ने बताया कि पुलिस की नजर एक महिला पर पड़ी जो बुर्के में थी और उसकी सिर्फ आंखें दिख रही थी।

जिस गाड़ी में वो बैठी उसे एक महिला चला रही थी लेकिन बुर्के वाली औरत की चाल-ढ़ाल एक औरत की बजाय मर्द की लग रही थी। दोबारा पुलिस की नजर इनके संदिग्ध हरकत पर पड़ी, पुलिस ने इनका पीछा घर तक किया और फिर महिला ड्राइवर के फ्लैट पर छापा मार फैयद और उसके भाई-भतीजे को पुलिस ने घर दबोचा।

जिस इमारत में फैयद छुपा बैठा था वहां से गिरफ्तारी के बाद आस-पास के लोग सकते में है। फैयद के पड़ोसी ने मीडिया से बातचीत में कहा ‘सौ के करीब पुलिस फोर्स को देख सभी डर गये थे,सन्नाटा पसर गया था। कभी सोचा न था कि ये कुख्यात अपराधी हमारे बीच ही रह रहा था।’ फैयद का एक और भतीजा पास ही विलर्स सैंट पॉल से पकड़ा गया और दो और भतीजों को पैरिस में उनके अपने घर से गिरफ्तार कर लिया गया है।

इसी साल एक जुलाई को पेरिस के दक्षिण-पश्चिम बाहरी हिस्से में रिऊ शहर की जेल से 46 वर्षीय फैयद कई हथियारबंद आदमियों की मदद से जेल से एक मिनट से भी कम समय में भाग निकला था। फैयद को फरार कराने में उपयोग किया गया हेलीकॉप्टर बाद में फ्रांस की राजधानी पेरिस के उत्तर-पश्चिम बाहरी हिस्से में खड़ा मिला। फ्रांसीसी पुलिस ने फैयद और उसके साथियों की तलाश में पूरी फोर्ल लगा रखी थी।

पहले भी जेल से भागा
फैयद इससे पहले 2013 में भी अनोखे तरीके से जेल तोड़कर भाग चुका है, जब उसने उत्तरी फ्रांस में एक जेल से बाहर निकलने के लिए डायनामाइट की मदद से बम विस्फोट कर दिया था। लेकिन तब वह छह सप्ताह बाद ही दोबारा पकड़ लिया गया था। इससे पहले भी वह करीब एक दशक से जेल में बंद रहने के बाद पैरोल अधिकारियों को नए सिरे से जिंदगी शुरू करने का झांसा देकर भाग निकला था।

25 साल की हुई थी सजा
फैयद को ट्रायल कोर्ट ने मई, 2010 में हथियारों की चोरी के मामले में मास्टरमाइंड घोषित करते हुए 25 साल कैद की सजा सुनाई थी। इस चोरी के दौरान एक पुलिसकर्मी की हत्या हो जाने के कारण इसे बेहद संगीन जुर्म माना गया था।

दो फिल्मों से प्रेरित मानता है अपनी जिंदगी

पेरिस के बाहर शरणार्थियों के बीच कठिनाइयों के बीच परवरिश पाने वाले फैयद का दावा है कि उसकी आपराधिक जिंदगी दो अमेरिकी फिल्मों ‘स्कारफेस’ और ‘हीट’ से प्रेरित है। अपनी जिंदगी पर दो किताबों का सह लेखक रह चुका फैयद कई बार फ्रांसीसी टीवी कार्यक्रमों में भी शामिल हो चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *