Breaking News

विवेक तिवारी शूटआउट पर मायावती का बड़ा बयान, प्रदेश में भय का माहौल और हो रहा है ब्राह्मणों का शोषण

लखनऊ . उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कुछ दिन पहले हुए विवेक तिवारी मर्डर पर सियासत भी शुरू हो गई है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जहां रविवार को इसपर ‘हिंदू कार्ड’ का दांव चला वहीं, सूबे की पूर्व सीएम मायावती ने आज जाति का दांव चला। माया ने विवेक की जाति का जिक्र कर रहा कि राज्य में ब्राह्मणों पर अत्याचार हो रहा है।

बीएसपी की सुप्रीमो मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सोमवार को प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधा। मायावती ने कहा कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है और सरकार मामले पर लीपापोती कर रही है। मायावती ने कहा कि यहां ब्राह्मणों का शोषण हो रहा है और भय का माहौल है। उन्होंने पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने की भी बात कही।

हो रहा है ब्राह्मणों का शोषण

मीडिया के सामने बीएसपी के पीड़ित परिवार के साथ होने की बात करते हुए मायावती ने कहा, ‘देखने को मिला है कि प्रदेश में ब्राह्मणों का शोषण हो रहा है और सरकार केवल लीपापोती कर रही है। प्रदेश में भय का एक माहौल है और सरकार मामले को दबाने की कोशिश कर रही है।’ उन्होंने कहा, ‘उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है और बहन-बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। राजधानी का यह हाल है तो प्रदेश का अंदाजा लगाया ही जा सकता है। सरकार अपने मंत्रियों को भेज रही है और केवल आश्वासन दे रही है।’

“अपर कास्ट समाज में से विशेषकर ब्राह्मण समाज के लोगों का भी अब कुछ ज्यादा ही शोषण व उत्पीड़न हो रहा है। इसका ताजा-ताजा उदाहरण यहां प्रदेश की राजधानी लखनऊ में ऐपल कंपनी के सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी की खुली सड़क पर खुलेआम की गई हत्या है।” -विवेक तिवारी की हत्या पर बीएसपी प्रमुख मायावती

जल्द कार्रवाई करने की अपील

मायावती ने हत्या मामले में जल्द कार्रवाई करने की अपील करते हुए कहा, ‘मेरा सरकार से कहना है कि अगर उनका कुछ हाथ नहीं है तो उन्हें बिना देरी किए ही इस मामले की उच्चस्तरीय जांच करवानी चाहिए। जरूरी है कि अफसर से लेकर अधिकारियों तक सबके खिलाफ कार्रवाई हो।’ उन्होंने कहा, ‘मैंने पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश मिश्रा को भी पीड़ित परिवार से मिलने के लिए कहा और पीड़ित परिवार को न्याय का भरोसा दिलाने के निर्देश दिए हैं।’

बीएसपी सुप्रीमो ने कहा, ‘घटना दुखद है और सतीश मिश्र एक वकील होने के नाते खुद मामले की पैरवी करने को भी तैयार हैं। मैंने उन्हें निर्देश दिए हैं कि परिवार चाहे तो मामले की मुफ्त पैरवी करते हुए पीड़ित परिवार को न्याय दिलाया जाए। सरकार को दोषी लोगों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए, लेकिन सरकार इसे लेकर गंभीर नजर नहीं आ रही है।’

विवेक के परिजनों से मिले सतीश चंद्र मिश्रा
इस बीच बीएसपी के महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने विवेक के परिवार से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि विवेक के परिजनों को सरकार की ओर से दिए गए मुआवजे को बढ़ाया जाना चाहि और यदि SIT जांच सही नहीं हुई तो कोर्ट की मदद ली जा सकती है। सतीश मिश्रा ने कहा, ‘हमारी मांग है कि SIT जांच रिटायर्ड जज की निगरानी में हो। पीड़ित परिवार सदमे में है इसलिए उसे हर संभव मदद मिलनी चाहिए।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *