Breaking News

एक बार फिर फेक वीडियो के चक्कर में बुरा फंसे पाक के पीएम

पाकिस्तान हमेशा से भारत को किसी तरीके से बदनाम करने में जुटा रहता है, लेकिन कई बार इसी चक्कर में वो खुद ही फंस कर बदनाम हो जाता है. बता दें कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान एक बार फिर फेक वीडियो के चक्कर में घनचक्कर बन कर रह गए और खुद की ही फजीहत करवा ली. उन्होंने टि्वटर पर बांग्लादेश का एक पुराना वीडियो जारी किया और उसे भारत का बताया। वीडियो में पुलिसबल को मुस्लिम युवकों की पिटाई करते दिखाया गया है।

आपको बता दें कि इस वीडियो को पोस्ट करने के साथी इमरान ने लिखा, यूपी में मुसलमानों के खिलाफ भारतीय पुलिस का कहर। इस वीडियो में पुलिस को दंगा-रोधी वर्दी में प्रदर्शनकारियों को पीटते हुए दिखाया गया है। इस ट्वीट के कुछ ही देर बाद लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया। ट्विटर पर फजीहत होते देख इमरान ने अपने ट्वीट को डिलीट कर लिया।

वहीँ जब ये फेक वीडियो सोशल मीडिया पर आया तो विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने भी इमरान के फर्जी ट्वीट का जिक्र करते हुए लिखा, फेक न्यूज ट्वीट करो। पकड़े जाओ तो डिलीट कर दो।

दरअसल, इमरान जिस वीडियो को उत्तर प्रदेश में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस बर्बरता के सबूत के तौर बताने की कोशिश कर रहे थे, वो वास्तव में बांग्लादेश का एक पुराना वीडियो है। वीडियो में एक जगह पुलिस की वर्दी और ढाल पर आरएबी लिखा हुआ दिख रहा है। आरएबी का मतलब रैपिड एक्शन बटालियन है, जो बांग्लादेश पुलिस की आतंकरोधी इकाई है। साल 2013 में बांग्लादेश पुलिस और धार्मिक कट्टरपंथियों के बीच हिंसक झड़प हुई थी, जिसका यह वीडियो है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *