Breaking News

अनियमित दिल की धड़कन को झट से पहचान लेगा यह Smart Phone एपजापान के वैज्ञानिकों ने बोला कि कि उन्होंने मानवीय उपयोग के अनुकूल, अत्याधिक लचीला सेंसर विकसित किया है जो दिल की धड़कन जांचने वाले स्वयं संचालित उपकरण के तौर पर कार्य करेगा। जापान के टोक्यो विश्वविद्यालय व आरआईकेईएन के अनुसंधानकर्ताओं ने कई तरह की शारीरिक प्रक्रियाओं को मापने में प्रयोग होने वाले आर्गेनिक इलेक्ट्रोकेमिकल ट्रांसिस्टर नामक एक संवेदी उपकरण को लचीले जैविक सौर सेल के साथ संकलित किया। इसकी मदद से वह चमकीली रोशनी में चूहों एवं मानवों की धड़कन मापने में सक्षम हो पाए। आरआईकेईएन सेंटर फॉर इमरजेंट मैटर साइंस के केंजीरो फुकुदा ने कहा, “मानवीय उत्तकों में स्थापित किए जा सकने के लिए चिकित्सीय स्थितियों पर नजर रखने वाले स्वयं चालित उपकरण बनाने की पहल में यह एक अगला कदम है। ”

जापान के वैज्ञानिकों ने बोला कि कि उन्होंने मानवीय उपयोग के अनुकूल, अत्याधिक लचीला सेंसर विकसित किया है जो दिल की धड़कन जांचने वाले स्वयं संचालित उपकरण के तौर पर कार्य करेगा जापान के टोक्यो विश्वविद्यालय  आरआईकेईएन के अनुसंधानकर्ताओं ने कई तरह की शारीरिक प्रक्रियाओं को मापने में प्रयोग होने वाले आर्गेनिक इलेक्ट्रोकेमिकल ट्रांसिस्टर नामक एक संवेदी उपकरण को लचीले जैविक सौर सेल के साथ संकलित किया

इसकी मदद से वह चमकीली रोशनी में चूहों एवं मानवों की धड़कन मापने में सक्षम हो पाए आरआईकेईएन सेंटर फॉर इमरजेंट मैटर साइंस के केंजीरो फुकुदा ने कहा, “मानवीय उत्तकों में स्थापित किए जा सकने के लिए चिकित्सीय स्थितियों पर नजर रखने वाले स्वयं चालित उपकरण बनाने की पहल में यह एक अगला कदम है ”मानवीय बॉडी पर सीधे पहने जा सकने वाले स्वचालित उपकरणों के चिकित्सीय प्रयोजनों में प्रयोग की बहुत अच्छी आसार है यह अनुसंधान ‘नेचर’ पत्रिका में प्रकाशित हुआ हैअनियमित दिल की धड़कन को झट से पहचान लेगा यह Smart Phone एप
वैज्ञानिकों ने एक Smart Phone एप्लीकेशन विकसित किया है, जो एट्रियल फाइब्रिलेशन की जांच करने में मदद कर सकता है एट्रियल फाइब्रिलेशन दिल की धड़कन का सबसे आम विकार है इस विकार की वजह से दिल की धड़कन अनियमित हो जाती है  अक्सर बढ़ जाती है, जिससे आम तौर पर रक्त प्रवाह कम हो जाता है सभी तरह के स्ट्रोक के होने के पीछे 20-30 प्रतिशत यही वजह होती है यह समय पूर्व मौत का जोखिम बढ़ा देता है

कैमरे से जांच लेगा दिल की धड़कन
नया एप दिल की धड़कन, सांस फूंलने, थकान आदि लक्षणों का प्रयोग कर दिल की धड़कन को मापता है इसका प्रयोग Smart Phone कैमरा के सामने एक मिनट तक बाईं तर्जनी उंगली को दबाकर किया जा सकता है शोधकर्ताओं का कहना है कि यह एप स्वचालित रूप से एक रिपोर्ट देता है, जिसमें दिल की धड़कन की एक प्रति के साथ, उसके बारे में जानकारी भी रहती है

एट्रियल फाइब्रिलेशन की कम मूल्य में हो सकेगी जांच
बेल्जियम के हेस्सेल्ट विश्वविद्यालय के प्रोफेसर और मुख्य अनुसंधानकर्ता पीटर वांडरवोर्ट ने कहा, “ज्यादातर लोगों के पास एक कैमरे वाला Smart Phone है, जिसकी एट्रियल फाइब्रिलेशन की जांच के लिए आवश्यकता होती है एट्रियल फाइब्रिलेशन की स्थिति की हजारों लोगों में जांच का यह कम मूल्य वाला उपाय है यह स्थिति तेजी से फैल रही है  इसका उपचार नहीं किया गया तो गंभीर परिणाम होंगे “

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *