Breaking News

IND vs BAN: सर रवींद्र जडेजा फाइनल में बल्लेबाजी के वक्त कुछ ऐसा चल रहा था उनके दिमाग में…

एशिया कप के फाइनल में बांग्लादेश के खिलाफ अगर भारतीय टीम लक्ष्य हासिल कर पाई तो उसकी सबसे बड़ी वजह सर रवींद्र जडेजा रहे। जडेजा ने रन तो केवल 23 बनाए लेकिन ये रन कितने बेशकिमती थे, ये सभी को पता है।

जडेजा क्रीज पर तब आए जब भारतीय टीम 160 रन पर धौनी सहित 5 बल्लेबाजों को खो चुकी थी। इसके बाद जडेजा ने पहले केदार के साथ और फिर उसके बाद भुवनेश्वर के साथ मैच जिताउ साझेदारी कर टीम इंडिया को 7वीं बार खिताब जीतने में अहम भूमिका निभाई।

जडेजा ने 33 गेंद पर 23 रन की पारी खेली हालांकि वह टीम इंडिया को अपने बल्ले से नहीं जिता पाए लेकिन उन्होंने अपनी टीम को उस स्थिति में पहुंचा दिया था, जहां से जीत साफ नजर आने लगी थी।

मैच खत्म होने के बाद जडेजा ने कहा कि मैं वनडे टीम से पिछले 15 महीने से बाहर हूं। मैं लगातार अपने खेल में सुधार कर रहा था क्योंकि मुझे खुद को साबित करना था।

इंटरनेशनल मैचों में आपको जितने मौके मिले उसमे आपको खुद को साबित करना होता है। आपको हर बार दिखाना होगा कि आप में काबिलियत है तभी टीम में आपकी जगह बनती है। इस पारी के बारे में उन्होंने कहा कि मैं बस अपना स्वभाविक खेल खेला और सही गेंद पर सही शॉट खेलकर मैंने भुवी के साथ साझेदारी की।

इसके अलावा कुलदीप यादव बल्लेबाजी के समय क्या सोच रहे थे, इस बारे में उन्होंने कहा कि जब मैं क्रीज पर गया तो जाधव ने कहा कि मुझे भागने में थोड़ी परेशानी हो रही है इसलिए भागते समय थोड़ा सतर्क रहना। वहीं उन्होंने ये भी कहा कि ये पिच बल्लेबाजी के लिए अच्छी है। इसके अलावा कुलदीप ने कहा कि मुझे अपनी बल्लेबाजी पर विश्वास है, मैंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में लगातार रन बनाए है, जिससे मेरा विश्वास बढ़ा हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *