Breaking News

केदार जाधव ने आखिरी ओवर में बांग्लादेशी कप्तान की इस गलती का उठाया फायदा…

एशिया कप के फाइनल में भारतीय बल्लेबाज केदार जाधव ने बांग्लादेश के खिलाफ चोटिल होने के बावजूद अपना संयम नहीं खोया और टीम इंडिया को जीत दिला कर ही दम लिया। केदार की हालात इतनी खराब थी कि एक बार तो वह रिटायर्ट हर्ट होकर मैदान से बाहर चले गए थे लेकिन रवींद्र जडेजा का आउट होने के बाद उन्होंने फिर से टीम इंडिया को जिताने का जिम्मा उठाया।

फाइनल में बांग्लादेश ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 223 रन का लक्ष्य भारत के सामने रखा। भारतीय बल्लेबाज जब इस टारगेट को हासिल करने के लिए मैदान पर आए तो सभी को लगा कि भारत आसानी से इसे हासिल कर लेगा लेकिन बांग्लादेशी खिलाड़ियों ने गजब का जज्बा दिखाया और मैच आखिरी गेंद तक खींचा। आखिरी ओवर में भारत को जीत के लिए 6 रन की जरुरत थी और क्रीज पर मौजूद थे केदार जाधव और कुलदीप यादव।

फाइनल ओवर के बारे में जाधव ने बताया कि आखिरी ओवर में जब हमे 6 रन चाहिए तो बांग्लादेश के कप्तान को लगा कि बड़े शॉट यानी चौके या छक्के लगाने की कोशिश करेंगे इसी वजह से उन्होंने सारे फील्डर बांउड्री पर लगा दिए।

हमें भी पता कि 30 गज के एरिया में ज्यादा खिलाड़ी नहीं है इसलिए हमने सिंगल और डबल्स से मैच अपने नाम कर लिया। जाधव ने ये भी माना कि जिस तरह दूसरे छोर पर कुलदीप ने बल्लेबाजी की, उससे भी मुझे काफी आत्मविश्वास मिला। केदार ने फाइनल में 27 गेंद पर 1 चौके और 1 छक्के की मदद से नाबाद 23 रन बनाए।

गेंदबाजी में भी केदार का जादू

बच्चे ने खोला राज, इस खिलाड़ी की वजह से अफगानिस्तान के खिलाफ मैच के बाद रोया
यह भी पढ़ें
गेंदबाजी में केदार जाधव का जादू देखने को मिला। केदार ने ना केवल बांग्लादेश को बड़ा स्कोर बनाने से रोका बल्कि उसकी पारी ढहाने में भी अहम योगदान दिया।

एक वक्त बांग्लादेश 20 ओवर में बिना कोई विकेट खोए 120 रन बना चुका था, भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने अपने सभी मुख्य हथियार यानी भुवी, बुमराह, जडेजा, कुलदीप और चहल को गेंद थमाई लेकिन वह विकेट लेने में नाकाम साबित हुए।

अब इन गेंदबाजों के विकेट ना लेने के बाद रोहित के पास ही चारा बचता था और वह थे केदार जाधव, टीम इंडिया में जोड़ी ब्रेकर के नाम से मशहूर केदार ने अपनी कप्तान को निराश नहीं किया और अपने स्पैल की शुरुआत में ही उन्होंने मेहदी हसन को पवेलियन भेज अपनी टीम को पहली सफलता दिलाई। यही नहीं इसके बाद जाधव ने बांग्लादेश का सबसे बड़ा हथियार को भी फुस कर दिया।

इस गेंदबाज ने टूर्नामेंट में शानदार फॉर्म में चल मुश्फिकुर रहीम को भी बुमराह के हाथों कैच आउट करवा बांग्लादेश को सबसे बड़ा झटका दिया। इस मैच में केदार ने 9 ओवर की गेंदबाजी में 41 रन देकर 2 विकेट झटके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *