Breaking News

एक गिलास मैंगो शेक में पाई जाती है 240 किलोकैलोरी

गर्मियों में आम का खूब सेवन किया जाता है। स्वाद और पोषक तत्वों से भरपूर आम हर किसी का पसंदीदा फल है। इसीलिए तो इसे फलों का राजा भी कहा जाता है। बहुत से लोग आम फल की बजाय मैंगो शेक पीना पसंद करते हैं। मैंगो शेक सामान्यतः चीनी, दूध और आम से बनाया जाता है। मैंगो शेक में फल से ज्यादा कैलोरी पाई जाती है। ऐसे में अगर इसका हर रोज सेवन किया जाता है तो मोटापा और डायबिटीज जैसी समस्या से सामना हो सकता है। आइए, जानते हैं कि एक गिलास मैंगो शेक में कौन-कौन से पोषक तत्व कितनी मात्रा में होते हैं और इसे पीने के फायदे-नुकसान क्या हैं।

विशेषज्ञों की मानें तो एक गिलास मैंगो शेक में तकरीबन 171 किलोकैलोरी होती है। और कैलोरी की इतनी मात्रा तब होती है जब उससें शुगर न मिलाया गया हो। इसके साथ इसमें तकरीबन 16.5 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 7 ग्राम प्रोटीन, 8.6 ग्राम फैट्स पाए जाते हैं। शुगर वाले एक गिलास मैंगो शेक में 240 किलोकैलोरी पाई जाती है। साथ ही इसमें तकरीबन 35 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 8.2 ग्राम प्रोटीन और 7.8 ग्राम वसा पाया जाता है।

क्या हैं फायदे-नुकसान – आयुर्वेद की मानें तो फलों और दूध का मिश्रण सेहत के लिए सही नहीं होता। कंपलीट बुक ऑफ आयुर्वेदिक होम रेमेडीज के लेखक डॉ. वसंत लाड बताते हैं कि आयुर्वेद के हिसाब से भोजन का खराब मिश्रण पेट की गंभीर बीमारियों को दावत दे सकता है। इससे अपच, एसिडिटी और सीने में जलन जैसी समस्याएं हो सकती हैं। एक अन्य विशेषज्ञ डॉ. दृष्टि पारेख बताती हैं कि कोई भी अगर मैंगो शेक पीना चाहता है तो वह सुनिश्चित कर ले कि जिस आम का इस्तेमाल वह इसे बनाने में कर रहा है वह पूरी तरह से पका हुआ है। कच्चे फलों के साथ दूध का मिश्रण सेहत के लिए सही नहीं होता। इस वजह से आपको हैवीनेस और मंद बुद्धि की शिकायत हो सकती है। इससे अच्छा है कि आप फल और दूध का अलग-अलग सेवन करें। विशेषज्ञों का कहना है कि एक या दो दिन एक गिलास मैंगो शेक पीने से कोई नुकसान नहीं है लेकिन अगर आप हर रोज इसका सेवन करते हैं तो यह नुकसानदेह हो सकता है। अगर आप हर रोज मैंगो शेक पीना ही चाहते हैं तो इसके लिए आप नट बेस्ड दूध जैसे – बादाम का दूध, काजू का दूध आदि का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *