Breaking News

लातेहार में मुठभेड़ में मारे गये दो कमांडर समेत पांच माओवादी

यहां की एक अदालत ने पांच साल पहले दुमका जिले में एक पुलिस अधीक्षक और पांच अन्य पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में बुधवार को दो माओवादियों को दोषी ठहराया। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश मोहम्मद तौफीकुल हसन ने सनातन बास्की और सुखलाल मुर्मू उर्फ प्रवीर दा को मौत की सजा सुनाई।

अदालत ने गत 6 सितंबर को भाकपा (माओवादी) के दोनों सदस्यों को दोषी ठहराया था और पांच अन्य को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया था। अतिरिक्त लोक अभियोजक सुरेंद्र प्रसाद सिन्हा ने कहा कि दोनों ने पाकुड़ के तत्कालीन पुलिस अधीक्षक अमरजीत बलिहार और पांच अन्य पुलिसकर्मियों की काठीकुंड में उस वक्त घात लगाकर हत्या कर दी थी जब वे 2 जुलाई 2013 को दुमका में एक बैठक में हिस्सा लेने के बाद पाकुड़ लौट रहे थे।

नक्सली हिंसा हो जाएगी पुरानी बात, अब वन क्षेत्रों में बहेगी विकास की बयार : रमन

सिन्हा ने कहा कि संगठन की विशेष क्षेत्र समिति (बिहार एवं झारखंड) का सदस्य प्रवीर दा हत्या के एक अन्य मामले में नौ अगस्त 2016 से आजीवन कारावास की सजा काट रहा है।

टैग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *