Breaking News

अवैध खनन रोकने गए सदर एसडीएम पर हमले की कोशिश

लखीमपुर खीरी. अवैध खनन रोकने गए एसडीएम सदर अरुण कुमार सिंह पर खनन कर रहे लोगों ने ट्रैक्टर चढ़ाने की कोशिश की।इसमें एसडीएम बाल-बाल बच गए।उनके हाथ में चोट आई है। जिससे हाथ फैक्चर हो गया है।

एसडीएम ने 10 बालू भरी ट्राली सीज की हैं। सभी ट्राली को खीरी थाना में खड़ा करवाया गया है। खनन इंस्पेक्टर ने नौ लोगों को नामजद करते हुए मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

एसडीएम सदर और नायब तहसीलदार मौके पर पहुंचे

खीरी थाना क्षेत्र के गांव सरसवा में रविवार की रात तेजी से खनन हो रहा था। इसकी सूचना पाकर एसडीएम सदर अरुण कुमार सिंह नायब तहसीलदार के साथ मौके पर पहुंचे। एसडीएम को देखकर खनन माफियाओं ने अपनी ट्रैक्टर ट्रॉली पहले भगाने की कोशिश की। लेकिन जब उनको रोक लिया गया तो उन्होंने एसडीएम की गाड़ी पर ट्रैक्टर चढ़ाने की कोशिश की। इस में एसडीएम सदर बाल बाल बच गए। उनके हाथ में चोट आई। उनका हाथ फैक्चर हो गया है। आनन फानन सूचना पुलिस को दी गई।

खनन माफिया फरार

सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंच गई। कुछ देर बाद खनन माफिया बालू भरे अपने ट्रैक्टर ट्राली छोड़कर मौके से फरार हो गए। एसडीएम ने सभी ट्रैक्टर ट्रालियों को जेसीबी से खुदान के बाहर निकलवाया और उनको थाने पर खड़ा करवा दिया। बाद में सभी ट्राली को सीज करा दिया गया है। एसडीएम के आदेश पर खनन इंस्पेक्टर ने ट्रैक्टर ट्राली के मालिकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। साथ में कुछ लोगों को अज्ञात में भी रखा गया है।

एसडीएम सदर अरुण सिंह ने बताया कि सूचना पाकर रात करीब एक बजे वह मौके पर पहुंचे थे। उनको देखते ही चालक ने ट्रैक्टर से उनको कुचलने की कोशिश की। लेकिन इसमें वह किसी तरह बच गए और गाड़ी से बाहर निकलकर उसे पकड़ने की कोशिश की। लेकिन वह बच कर भाग निकला। खनन इंस्पेक्टर ने खीरी थाने में मुकदमा दर्ज कराया है।

राजनीतिक संरक्षण में हो रहा खनन कारोबार

एसडीएम सदर अरुण कुमार सिंह ने रविवार की रात खनन की जो ट्रालियां पकड़ी है। वह भले ही अलग अलग लोगों के नाम पर हैं, लेकिन यह पूरा खनन एक नेता करवा रहा था। ग्रामीणों ने बताया कि यहां हर रात बड़े पैमाने पर खनन होता है। अगर कोई ग्रामीण इसका विरोध करता है तो उसके साथ मारपीट भी की जाती है। पुलिस भी खनन माफियाओं का सपोर्ट करती है। ग्रामीणों की कोई शिकायत नहीं सुनी जाती।ग्रामीणों का आरोप है कि पूरा खनन खीरी पुलिस की शह पर होता है। इसलिए पुलिस को पहले सूचना नहीं दी।

इसकी जानकारी एसडीएम के भी पास थी। उनको पता था कि सरसवा गांव में जो खनन हो रहा है वह पुलिस की जानकारी में है।अगर वह पुलिस को चेकिंग की जानकारी दे देते तो खनन करने वाले भाग जाते। मौके पर कुछ नहीं मिलता।

इसीलिए चोरी छिपे एसडीएम नायब तहसीलदार के साथ मौके पर पहुंचे और सरसवा गांव में बड़े पैमाने पर खनन हो रहा था।एसडीएम को देखकर खनन माफियाओं में हड़कंप मच गया।इसी हड़बड़ाहट में उन्होंने पहले भागने की कोशिश की और फिर बाद में एसडीएम पर ही हमला कर दिया।

खीरी थाना क्षेत्र के सरसवां गांव के पास खनन होने की सूचना रात को एसडीएम को मिली। वहां अवैध खनन चल रहा था। ट्रैक्टर-ट्रालियों के मालिकों पर रिपोर्ट दर्ज कर दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *