Breaking News

पांचवीं पास की नौकरी के लिए 255 पीएचडी ने किए आवेदन

फार्म भरने वालों में सबसे अधिक अभ्यर्थी ग्रेजुएट और इंटर पास हैं।
लखनऊ ()।। उत्तर प्रदेश शासन के सचिवालय प्रशासन विभाग ने समूह ‘घ’ के अंतर्गत पांचवीं पास अभ्यर्थियों से आवेदन मांगे थे। इसमें अनुसेवक/ फर्राश के पदों के लिए सरकारी सूचना जारी की गई थी, लेकिन हालत यह है कि 368 पदों के लिए कुल 23 लाख आवेदन आए हैं। इसमें 255 आवेदनकर्ता पीएचडी हैं। 25 हजार आवेदनकर्ता पोस्ट ग्रेजुएट और एक लाख 52 हजार से अधिक ग्रेजुएट हैं।
पढ़े लिखे बेरोजगारों की बढ़ती संख्या और शिक्षा के मापदंडों को दरकिनार कर आए आवेदन सरकार के गाल पर तमाचा है। आवेदन करने वालों की शिक्षा का स्तर देखकर कोई भी हैरान हो सकता है। नौकरी पांचवीं पास के लिए है, लेकिन पांचवी पास केवल 53 हजार 426 लोगों ने आवेदन किए। छठी पास तीन हजार 797 और आठवीं पास एक लाख 99 लाख 504 लोगों ने आवेदन किया है। 11 लाख 21 हजार 59 अभ्यर्थी हाईस्कूल पास हैं। 12वीं पास सात लाख 50 हजार 377 अभ्यर्थियों ने आवेदन किए हैं।
यूपी सरकार के अनुसार यह भर्ती 368 पदों के लिए होनी है। इसमें से 218 पद सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए हैं, 76 पद अनुसूचित जाति के लिए, पांच पद अनुसूचित जनजाति, और 69 पद ओबीसी के उम्मीदवारों के लिए आरक्षित हैं।
इन सभी पदों पर आवेदन करने के लिए जो आयु सीमा निर्धारित की गई है, वह कम से कम 18 वर्ष और अधिकतम 40 वर्ष है। इस आयु सीमा के समाप्त हो जाने के बाद आप इन पदों पर आवेदन नहीं कर पाएंगे। आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को उत्तर प्रदेश प्रशासन ने कुछ नियमों के अनुसार आयु सीमा में छूट दी है।
शैक्षिक योग्यता को लेकर यह शर्त है कि उम्मीदवारों को कक्षा पांच पास होना अनिवार्य है। महिलाओं और विकलांगों के अतिरिक्त अन्य उम्मीदवारों के पास हिंदी पढ़ने-लिखने की अच्छी जानकारी एवं साइकिल चलाने का कौशल होना जरूरी है। निकाले गए पदों पर चुने गए उम्मीदवारों को वेतन स्वरूप 5,200 रुपए से 20,200 रुपए प्रतिमाह दिए जाएंगे, वहीं 1,800 रुपए ग्रेड पे के तहत देने का भी प्रावधान है। आरक्षित श्रेणी की उन्हीं महिला उम्मीदवारों को आरक्षण का लाभ मिलेगा जिनका प्रमाणपत्र पितृ पक्ष की तरफ से बनवाया गया होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *