Breaking News

रेस्टोरेंट मालिक को मारी गोली, वारदात CCTV में कैद

सुल्तानपुर. रविवार देर शाम सुल्तानपुर जिले में तीन अपराधियों ने मामूली विवाद में एक रेस्टोरेंट में सरेआम उसके मालिक को गोली मार दी। ये घटना उस वक़्त हुई जब रेस्टोरेंट मालिक अपने काउंटर पर बैठा था और पूरा होटल खचाखच भरा था। तभी एक अपराधी ने अपनी पिस्टल से उसके मालिक पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दीं। उसके बाद बेख़ौफ़ होकर ये अपराधी अपनी गाड़ी में सवार होकर फरार हो गए। घटना के बाद इलाके में व्यवसायी को गोली मारने की खबर आग की तरह फ़ैल गई और लोग सड़कों पर उतर आए।

पुलिस ने मौके पर पहुंच कर इस घटना की जांच शुरू की तो गोली मारने की पूरी घटना सीसीटीवी में कैद मिली, जिससे तीनों अपराधियों की शिनाख्त हो गई। घायल व्यवसायी की नाजुक हालत देख स्थानीय डाक्टरों ने उसे लखनऊ रेफेर कर दिया है। फिलहाल घायल व्यवसायी अब लखनऊ के ट्रामा सेंटर में भर्ती हैं। उनकी हालत खतरे से बाहर है।

बता दें कि सुल्तानपुर जिले का सबसे व्यस्तम इलाका है बस स्टेशन, जहां अवंतिका नाम का एक रेस्टोरेंट है। रविवार शाम 4 बजे जब कैश काउंटर पर इसके मालिक आलोक आर्या बैठे थे, तभी वेटर से तीन लोग सामान के लेन-देन को लेकर झगड़ पड़े। बात ज्यादा बढ़ती देख आलोक आर्या ने इन लोगों को समझाने की कोशिश की, लेकिन ये नहीं माने। किसी तरह मामले को शांत किया गया, लेकिन बात उन चार लोगों को इतनी नागवार गुजारी कि उन्होंने रात 9 बजे दोबारा इस रेस्टोरेंट में आकर अपनी पिस्टल से आलोक आर्या के ऊपर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दीं।

गोली लगते ही आलोक आर्या नीचे गिर पड़े तो उस अपराधी ने फिर से पिस्टल निकाल कर उन पर गोली चला दी। गोली चलने की दहशत में इसे रेस्टोरेंट में दहशत फ़ैल गई। खुद आलोक आर्य गोली लगने के बाद चलकर रेस्टोरेंट के दरवाज़े तक आए, लेकिन वहीं गिर पड़े। उन्हें लोगों ने अस्पताल पहुंचाया, जहां उनकी नाजुक हालत देख उन्हें लखनऊ के लिए रेफर कर दिया गया।

सुल्तानपुर के डीएम-विवेक कुमार ने बताया कि करीब साढ़े चार बजे दिन में तीन लड़के अवंतिका रेस्टोरेंट में खाना खाने आये थे यहां के स्टाफ से बहस हुई। उसके बाद आलोक आर्या ने समझाने का प्रयास किया। इस पर तीनों चले गए। फिर नौ बजकर छब्बीस मिनट पर वे वापस आए और उनको गोली मार दी।

इस घटना की सूचना पाते ही इलाके में गुस्सा फूट पड़ा। सैकड़ो लोग सड़कों पर उतर आये। पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए मौके पर जाकर देखा तो उन्हें सीसीटीवी में पूरी घटना मिल गई।

पुलिस अधीक्षक सुल्तानपुर अमित वर्मा ने कहा कि न तो ये रंगदारी का मामला था, और न ही रंजिश का। सीसीटीवी फुटेज में देखने से लग रहा कि आरोपी नशे में थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *