Breaking News

अमेरिका की हर साल जेब काट रहा है चीन

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को कहा कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था का फायदा उठाते हुए चीन अपनी अर्थव्यवस्था को खड़ा करने के लिए अमेरिका से हर साल 500 अरब डॉलर ले जा रहा है। ट्रंप का यह बयान ऐसे समय में आया है जब उन्होंने एक ही दिन पहले ही चीन से 200 अरब डॉलर के अतिरिक्त आयात पर शुल्क लगाकर व्यापार युद्ध को और तेज कर दिया। ट्रंप ने अमेरिका की यात्रा पर आए पोलैंड के राष्ट्रपति आंद्रजेज डुडा के साथ व्हाइट हाउस में संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि चीन हर साल 500 अरब डॉलर अमेरिका से ले जा रहा है।

ट्रंप ने कहा, ‘‘यदि आप देखें कि क्या हो रहा है तो पायेंगे कि हमारा बाजार रॉकेट की तरह ऊपर जा रहा है। मैं नहीं चाहता कि उनका बाजार गिरे, लेकिन तीन महीने में ही उनका बाजार 32 प्रतिशत गिर गया है। ऐसा इसलिये कि हम अब वह होने नहीं देंगे जो वे करते आए हैं।’’

ट्रंप ने कहा, ‘‘पिछले कई सालों से चीन हमारे यहां से हर साल 500 अरब डॉलर से अधिक धन लेकर जा रहा है। यह पोलैंड के लिए काफी अधिक होगा, है या नहीं? आप इससे अपने देश को नए सिरे से तैयार कर सकते हैं। चीन ने यही किया है।’’ उन्होंने कहा कि वह व्यापार असंतुलन पर कड़ी नजर रख रहे हैं क्योंकि यह बेहद महत्वपूर्ण है। ट्रंप लगातार कहते आए हैं कि व्यापार असंतुलन की वजह से ही उनकी सरकार ने चीन, यूरोपीय संघ, कनाडा और मैक्सिको के साथ व्यापार युद्ध शुरू किया है। पोलैंड भी यूरोपीय संघ का सदस्य है।

उन्होंने कहा, ‘‘जब किसी देश के साथ व्यापारिक घाटा 375 अरब डॉलर का हो और उसके बाद अरबों डॉलर की विभिन्न जिम्मेदारियां हों, तो किसी को तो इस बारे में कुछ करना ही पड़ता है।’’ उन्होंने कहा कि अमेरिका दुनिया भर का गुल्लक बन गया है और सभी इसका फायदा उठा रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘चीन ने हमारा फायदा उठाया। यूरोपीय संघ ने हमारा फायदा उठाया। हर किसी ने हमारा फायदा उठाया। मैं अमेरिकी श्रमिकों, किसानों, पशुपालकों, कंपनियों को बचाना चाहता हूं। अब कोई भी हमारा रत्ती भर फायदा नहीं उठा सकता है।’’

चीन के आयात पर शुल्क की घोषणा के बारे में पूछे जाने पर ट्रंप ने कहा, ‘‘यह मुद्दा हो जाता है जब आंकड़े काफी बड़े हों। यह पिछले 20 साल से होता रहा है। आप विश्व व्यापार संगठन को देखिए। जब चीन में आर्थिक बदलाव हुआ, वह रॉकेट की तरह बढ़ा क्योंकि उसने विश्व व्यापार संगठन के नियमों का फायदा उठाया।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *