Saturday , June 19 2021
Breaking News

रेवाड़ी गैंगरेप मामले में दो मुख्य आरोपियों को पुलिस रही तलाश

रेवाड़ी गैंगरेप मामले में पुलिस सख्त रवैया अपनाए हुए है. लेकिन इसके बावजूद आरोपी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं. इस बारे में हरियाणा के डीजीपी बीस संधू ने कहा है कि रेवाड़ी के एक आरोपी को पकड़ा गया है और बाकी दो मुख्य आरोपियों को पुलिस तलाश रही है.

हमने 20 से 25 टीमें बनाई गई है जो अलग-अलग जगह पर रेड कर रही है. बहुत जल्दी आरोपी सलाखों के पीछे होंगे. यही नहीं, डीजीपी ने आगे बताया कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये सभी पुलिस अधीक्षकों को यह निर्देश दिए हैं कि इस तरह की घटनाओं में मामला दर्ज कर तुरंत कार्यवाही करें और कोई लापरवाही नहीं बरती जाए.

इसके अलावा रेवाड़ी के महिला पुलिस स्टेशन की एसआई हरिमणि को भी डीजीपी बीस संधू ने सस्पेंड किया है. हरिमणि पर आरोप है कि जब शिकायत करने थाने पहुंची तब उसने केस दर्ज करने से मना कर दिया था.

वहीं, नए एसपी राहुल शर्मा ने भी कार्यभार संभाल लिया है. उन्होंने पीड़िता के परिजनों से मिलकर आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया है.

नशीला पदार्थ पिलाकर हुआ था रेप

बता दें कि 12 सितंबर को तीनों आरोपियों ने छात्रा का उस समय अपहरण कर लिया था जब वो कोचिंग जाने के लिए घर से निकली थी. इसके बाद लड़की को पदार्थ पिलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया. गैंगरेप के बाद आरोपी लड़की को महेंद्रगढ़ के एक बस स्टैंड पर अचेत स्थिति में छोड़ गए थे. इस मामले में रविवार को पुलिस ने तीन मुख्य आरोपियों में से एक नीशू को गिरफ्तार कर लिया था.

मालूम हो कि इस घटना का मुख्य आरोपी पंकज आर्मी का जवान पंकज है. पंकज की शादी 6 महीने पहले ही हुई थी. वह कोटा में पोस्टेड था और छुट्टियों में घर आया था. पंकज ने 2 साल पहले आर्मी ज्वाइन की थी.

डॉक्टर सहित दो अन्य आरोपियों को किया जा चुका है गिरफ्तार

इस मामले में पहले दो आरोपियों दीनदयाल और डॉक्टर संजीव को गिरफ्तार किया गया था. गिरफ्तार किया गया आरोपी दीनदयाल उस ट्यूबवेल का मालिक है जहां इस घटना को अंजाम दिया गया. वहीं डॉक्टर संजीव पीड़िता को प्राथमिक उपचार देने पहुंचा था.

इस मामले में कार्रवाई करते हुए खट्टर सरकार ने रेवाड़ी के एसपी का ट्रांसफर कर दिया था. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अपनी सुरक्षा में तैनात राहुल शर्मा को रेवाड़ी एसपी की जिम्मेदारी सौंपी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *