Breaking News

ऑस्ट्रेलिया में एक बार फिर मैदान पर गेंद से एक बल्लेबाज चोटिल

अब जब भी मैदान पर किसी बल्लेबाज को गेंद लगती हैं तो क्रिकेट जगत में उसी तरह का भय बैठ जाता है, जैसा ऑस्ट्रेलिया के की मृत्यु से बैठ गया था नवंबर 2014 में ऑस्ट्रेलिया के 25 वर्ष के ओपनर बैट्समैन फिल ह्यूज की मौत बाउंसर लगने से हो गई थी इसके बाद से ही क्रिकेट के मैदान पर जब किसी गेंदबाज की गेंद बल्लेबाज को लगती है तो मैदान पर मौजूद खिलाड़ियों के मन में एक अजीब सा भय बैठ जाता है

ऑस्ट्रेलिया में एक बार फिर मैदान पर गेंद से एक बल्लेबाज चोटिल हो गया है विक्टोरिया  ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज कैमरून व्हाइट वन-डे में गेंदबाज की बीमर से चोटिल हो गए हैं क्वींसलैंड के गेंदबाज बिली सोमवार (17 सितंबर) को स्टेनलेक ने 140 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से एक बीमर फेंकी जो कैमरून व्हाइट के सीधी गर्दन पर लगी

जेएलटी कप में में हुई इस घटना का जिक्र चैनल नाइन ने किया है व्हाइट ने उस समय तक केवल चार गेंदें ही खेली थीं, स्टेनलेक की गेंद उन्हें लगी वह गेंद को बिल्कुल नहीं समझ पाए  गेंद की गति से भी शायद भय गए थे व्हाइट मैदान में गिर गए, लेकिन सौभाग्य से उन्हें ज्यादा चोट नहीं आई  उन्होंने आगे बल्लेबाजी की

हालांकि, इस बीमर ने व्हाइट का आत्मविश्वास तोड़ दिया  वह 35 गेंदें खेलकर केवल 10 रन बना पाए विक्टोरियन ने 66 रनों पर 4 विकेट से टीम का स्कोर 240 रनों तक पहुंचाया इससे पहले क्वींसलेंड 227 रन पर ढेर हो गई थी विक्टोरिया ने 13 रनों से यह मैच जीत लिया विक्टोरिया के ट्रेमैन  विल साउदरलैंड ने 8 विकेट लिए

इससे पहले भी हुई हैं मैदान पर चोट लगने से खिलाड़ियों की मौत
क्रिकेट के मैदान पर खिलाड़ी की मौत की कई घटनाएं हो चुकी हैं इंडियन क्रिकेटर रमन लांबा की मौत 1998 में एक बांग्लादेशी गेंदबाज की गेंद कनपटी पर लगने से हो गई थीपाकिस्तानी विकेटकीपर अब्दुल अजीज को 1958-59 में कायदे आजम ट्रॉफी फाइनल के दौरान छाती पर गेंद लगी थी वह बेहोश हो गए थे अस्पताल ले जाते समय अजीज की मौत हो गई थी

भारत के पूर्व कप्तान नारी कांट्रेक्टर को 1961-62 सीरीज के दौरान वेस्टइंडीज में तेज गेंदबाज चार्ली ग्रिफीथ की गेंद सिर में लगी थी उनके दिमाग की एक से अधिक आपात सर्जरी हुई  वह फिर टेस्ट क्रिकेट नहीं खेल सके इसके अतिरिक्त समरसेट के विरूद्ध एक्सरसाइज मैच में आंख में चोट लगने के कारण दक्षिण अफ्रीकी विकेटकीपर मार्क बूचर को 2012 में क्रिकेट को अलविदा कहना पड़ा था

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *