Breaking News

गैर जरूरी कार्यों में खराब होता है 86 फीसदी कर्मचारियों का समय

दुनिया में 86 फीसदी यानी हर 10 में से 9 कर्मचारियों का समय उन कार्यों में बर्बाद होता है, जो उनके कार्य का हिस्सा का नहीं है। इसका खुलासा श्रम प्रबंधन सेवाएं देने वाली कंपनी क्रोनोज के सर्वे में हुआ है। सर्वे के मुताबिक, 41 फीसदी फुल टाइम कर्मचारी गैर जरूरी कार्यों में काम के निर्धारित घंटे में से एक घंटे से ज्यादा समय गंवाते हैं। वहीं, 40 फीसदी कर्मचारियों का समय उन प्रशासनिक कार्यों में खराब होता है, जिससे उनके संस्थान को कोई लाभ नहीं होता। सर्वे ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, भारत, मैक्सिको और ब्रिटेन के 2800 कर्मचारियों पर 31 जुलाई से 9 अगस्त के बीच कराया गया था।

निर्धारित घंटे से अधिक काम करने में दबाव महसूस करते हैं भारतीय
सर्वे के मुताबिक, दुनिया के 53 फीसदी कर्मचारी काम के निर्धारित घंटे से अधिक काम करने में दबाव महसूस करते हैं। भारत में यह आंकड़ा 62 फीसदी और फ्रांस में 66 फीसदी है। अगर कभी ऐसी नौबत आती है तो वह अपने आप को दबाव में महसूस करने लगते हैं। बाकी के कर्मचारी मानते हैं कि अधिक समय तक काम करने के लिए मैनेजर उन पर दबाव डालते हैं। वहीं, कनाडा के 32 फीसदी, अमेरिका के 44 फीसदी और ऑस्ट्रेलिया के 47 फीसदी लोग अधिक समय तक काम करने में सबसे कम दबाव महसूस करते हैं।

मीटिंग में सबसे अधिक निकल जाता है मैनेजर का समय
सर्वे के मुताबिक, मैनेजर का सबसे अधिक 27 फीसदी समय मीटिंग करने में निकल जाता है। वहीं, प्रशासनिक कार्यों में 27 फीसदी, सहयो्गियों से बातचीत करने में 26 फीसदी और ई-मेल का जवाब देने में 26 फीसदी समय निकल जाता है। वहीं, कर्मचारी 22 फीसदी समय इस बात पर बहस में निकाल देते हैं कि यह काम उनके कारण खराब नहीं हुआ है। (इनपुट, एजेंसी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *