Breaking News

अखिलेश यादव की टीम से टीवी चैनल पर भिड़ेंगे शिवपाल यादव के ये प्रवक्ता, देखिए लिस्ट

फर्क इंडिया डिजिटल

लखनऊ.  अखिलेश यादव को शिवपाल यादव के खोने का जितना दर्द नहीं होगा, उससे कहीं ज्यादा दर्द शिवपाल यादव को मोर्चा बनाने का है। अखिर शिवपाल यादव बोलें को किसके खिलाफ। भतीजा तो अपना है, लेकिन शिवपाल यादव ने यह भरोसा दिया है कि अब तैयार हो जाओ। बहुत इंतजार करने के बाद सोंच समज कर ये कदम बढ़ाया है। अब ये कदम पीछे नहीं हटेंगे।

शिवपाल यादव

 

उत्तर प्रदेश की तस्वीर बदलेगी और तकदीर बदलेगी। शिवपाल यादव ने ये बातें सोमवार को लखनऊ में बुद्धा इंटरनेशनल शोध संस्थान में हो रहे श्रीकृष्ण वाहिनी के राज्य स्तरीय सम्मेलन में कही हैं।

अखिलेश यादव के साथ आने को लेकर शिवपाल यादव ने कहा कि यह अब नहीं होगा। समाजवादी पार्टी के लोग ही विधानसभा चुनाव में उन्हें हराने के लिए लगे हुए थे। हमारे लोग खुद ही भाजपा के प्रत्याशी की मदद कर रहे थे। यह भाजपा का प्रत्याशी भी क्रिमिनल था। तब क्या मैं परिवार का नहीं था। तब क्या मैं चाचा नहीं था। जल्द ही 75 जिले के अध्यक्षों की घोषणा होगी। हर मंडल में एक प्रभारी रखे जाएंगे।

शिवपाल यादव ने मंच से गीता के पाठ का हवाला देते हुए कहा कि सत्ता आने पर मद आ जाता है। अभिमान आ जाता है। दुर्योधन को भी आ गया था। नेता जी से कभी पद नहीं मागा। नेता जी की चिट्ठियां बांटता था। जब नेता जी ने 1996 में विधानसभा का टिकट दिया तो मैं विधायक बना। 1980 में टिकट मिलता तो 1980 में भी विधायक बन जाता।

कार्यक्रम के दौरान श्रीकृष्ण वाहिनी के महासचिव अशोक यादव ने कहा कि आज का युवा शिवपाल यादव को देख रहा है। 5 साल सीएम क्या बने खुद को खुदा मान बैठे। अशोक यादव ने 2022 में मुख्यमंत्री बनाने का एलान किया।

श्रीकृष्ण वाहिनी के अध्यक्ष विजय यादव ने कहा कि सामाजिक न्याय होना चाहिए। धर्म पर चलने वालों की हमेशा विजय होती है। शिवपाल यादव का वनवास पूरा हो गया है। सड़कों पर संघर्ष होगा। शिवपाल यादव ने सुदर्शन चक्र धारण कर लिया है।

श्रीकृष्ण वाहिनी के मंच पर शिवपाल यादव के साथ पूर्व मंत्री कमाल यूसुफ और अपर महाधिवक्ता राज बहादुर यादव भी मौजूद रहे। दोनों ही नेताओं ने शिवपाल यादव को आगे बढ़ने को लेकर जोर दिया।

फोटो-फाइल।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *