Breaking News

‘मेक इन यूपी’ के बिना ‘मेक इन इण्डिया’ सम्भव नहीं:अखिलेष

-51098 करोड़ के एमओयू हस्ताक्षरित
-मुख्यमंत्री ने फिल्म बन्धु के सिंगल विण्डो सिस्टम का शुभारम्भ किया

लखनऊ। प्रदेष के विकास की गाड़ी को रफ्तार पकड़ाने के लिए मुम्बई में आयोजित निवेषक सम्मेलन के उत्साहजनक परिणाम सामने आए हैं। उद्यमियों ने सरकार को राज्य में निवेष का भरोसा दिलाया है। राज्य में विभिन्न सेक्टरों में निवेष के लिए 51098 करोड़ के एमओयू भी हस्ताक्षरित किए गए हैं। इस दौरान मुख्यमंत्री ने फिल्म बन्धु के सिंगल विण्डो सिस्टम का भी शुभारम्भ किया।
जिन कम्पनियों ने राज्य में निवेश करने के लिए प्रस्ताव दिए हैं, उनमें प्रमुख रूप से आइडिया सेल्यूलर, एलजी, रिलायंस जियो, गोदरेज एग्रोवेट, तोशिबा पावर, सेरेस बायो सिस्टम, कनोडिया ग्रुप, ऑल इण्डिया प्लास्टिक मैन्यूफैक्चरर्स एसोसिएशियन, आईटीसी, इण्डो-गल्फ फर्टिलाइज़र्स, अमूल संचय आदि हैं। उद्यमियों ने प्रमुख रूप से इलेक्ट्रॉनिक्स, खाद्य प्रसंस्करण, अवस्थापना विकास, आईटी, ऊर्जा, सौर ऊर्जा आदि सेक्टरों में निवेश की रूचि दिखायी है। इस मौके पर लगभग 200 भारतीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय निवेशकों व कई बिज़नेस समूहों के प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि मेक इन इण्डिया तभी सफल हो पाएगा जब ‘मेक इन यू.पी.’ सफल होगा, क्योंकि यूपी न केवल देश का सबसे ज्यादा आबादी वाला राज्य है, बल्कि भारत का सबसे बड़ा बाज़ार भी है।

दूसरे राज्यों की तुलना में यूपी बेहतर

मुख्यमंत्री अखिलेष यादव ने कहा कि राज्य की निवेश नीतियाँ, अच्छे यातायात के साधन, बढ़ती हुई ऊर्जा क्षमता और अन्य सामाजिक सेवायें निश्चित रूप से दूसरे राज्यों की तुलना में उत्तर प्रदेष बेहतर है। उन्होंने कहा कि मेरी सरकार प्रदेश को प्रगतिशील और समृद्ध बनाने के लिए कृतसंकल्प है और इसलिए कई नई योजनाएं और परियोजनाएं शुरू की गई हैं।
सामाजिक व आर्थिक विकास के लिए अवस्थापना सुविधाओं के महत्व पर जोर देते हुए, मुख्यमंत्री ने कहा कि औद्योगिक अवस्थापना विकास के लिए सरकार आईटी पार्क, मेगा फूड पार्क, लॉजिस्टिक्स हब, प्लास्टिक सिटी, बायोटेक औद्योगिक पार्क एवं इण्टीग्रेटेड इण्डस्ट्रियल टाउनशिप्स स्थापित कर रही है। आगरा से लखनऊ के बीच विकसित किए जा रहे 302 किमी लम्बे एक्सप्रेसवे के लिए बिना किसी बाधा के भूमि के प्रबन्ध का उल्लेख करते हुए श्रीयादव ने कहा कि हमने आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे के लिए ज़मीन के मालिकों की सहमति से पूरी ज़मीन का इंतज़ाम सफलतापूर्वक बिना किसी विवाद के कर के दिखाया है। इसमें 10 जिलों में कुल 3059 हेक्टेयर्स ज़मीन का इंतजाम किया गया।

यूपी में फिल्म निर्माण को प्रोत्साहन
प्रमुख सचिव सूचना नवनीत सहगल ने कहा कि राज्य सरकार ने फिल्म निर्माण को बढ़ावा देने की दृष्टि से उत्कृष्ट फिल्म नीति लागू की है। उत्तर प्रदेश में फिल्म शूटिंग की दृष्टि से अनेक स्थान मौजूद हैं। आज लागू की गयी ऑनलाइन सुविधा से अब ंिफल्म निर्माताओं को दौड़ भाग नही करनी पड़ेग

बैंकर्स से भी मिले सीएम

मुख्यमंत्री अखिलेष यादव ने इन्वेस्टर्स मीट के बाद प्रमुख बैंकर्स से भी मुलाकात की। इनमें एसबीआई, ऐक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, यूनियन बैंक, बैंक ऑफ इण्डिया इत्यादि के प्रतिनिधि मौजूद थे। इन लोगो ने उत्तर प्रदेश में 1.5 लाख करोड़ रुपये की लेण्डिग तथा निवेश का वादा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *