Breaking News

पीरियड्स के दौरान लड़को के मन में उठते हैं ये सवाल

जहां प्यार हो जाये वहां शर्म नहीं होनी चाहिए लेकिन लड़कियां अपने ब्वॉयफ्रेंड से कहने या उनके सामने कुछ बातें करने से भी शर्माती हैं। जब लड़कियों का पीरियड टाइम चलता है तो वो अपने ब्वॉयफ्रेंड से इस बारे में खुल कर बात नहीं कर पाती है। पीरियड्स एक नेचुरल चीज है। हर लड़की को इस दौर से गुजरना पड़ता है, लेकिन क्या आपको पता है कि इस दौरान लड़को के मन में कितने सवाल उठते है।
Image result for पीरियड के दिनों महिलाओं के साथ संबंध बनाना होता है फायदेमंद
तुम इन दिनों नहाती कैसे हो? दिक्‍कत होती होगी?: उनके मन में सवाल उठता है कि लड़कियां इन दिनों जब नहाती होंगी तो क्राइम सीन की तरह हर जगह ब्‍लड ही ब्‍लड तो नहीं दिखता होगा। वो मन ही मन सोचते हैं कि इतना खून इनके शरीर में आता कहां से है।
कैसे पता चलता है कि पीरियड्स शुरू हो गए हैं?: लड़के सोचते हैं कि लड़कियों को कितना बुरा महसूस होता होगा जब उनकी योनि से ब्‍लड़ आने लगता होगा और हर पल उन्‍हें इसके बारे में ही सोचना पड़ता होगा।
पीरियड्स के दौरान चॉकलेट वाकई में फायदेमंद होती है?: लड़के कभी-कभी सोचते हैं कि क्‍या लड़कियां वाकई में इन दिनों में चॉकलेट खाकर अच्‍छा महसूस करती हैं या ये सिर्फ इनका कुछ अलग खाने का तरीका होता है। और अगर ऐसा है तो क्‍यूं है।
क्‍या हर समय ये महसूस होता है?: लड़कों को लगता है कि पीरियड्स के दौरान लड़कियों के मन में हर समय सिर्फ पीरियड्स और पैड की बात ही रहती होगी। ऐसे में वो बाकी के काम कैसे कर पाती हैं।
पैड और टैम्‍पून लगाकर कितना अजीब लगता होगा?: लड़कों को कभी समझ नहीं आता कि पैड या टैम्‍पून लगाकर लड़कियों को कैसे रिलेक्‍स लगता है वो इतनी कैसे बैठ भी कैसे लेती हैं।
सेक्‍स कैसे कर सकती हैं?: शादी से पहले तक लड़कों की जिज्ञासा बहुत ज्‍यादा होती है। उन्‍हें लगता है कि पीरियड्स में सेक्‍स करने वाली लड़कियां बहुत हॉर्नी होती हैं और खुद को रोक नहीं पाती है।
पीरियड्स के दौरान इन्हें इतना गुस्‍सा क्‍यूं आता है?: लड़के इन दिनों में लड़कियों के बदले व्‍यवहार को समझ नहीं पाते हैं। उन्‍हें समझ नहीं आता है कि ऐसा क्‍यूं हो रहा है।
पीरियड्स के दौरान सोती कैसे हैं?: लड़के इसे लेकर अक्‍सर परेशान भी हो जाते हैं कि एक ही स्थिति में लड़कियां 8 से 9 घंटे तक कैसे सो लेती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *