Breaking News

समलैंगिकता को लेकर सिंगापुर में छिड़ी बहस

हिंदुस्तान में समलैंगिक लोगों के आपसी सहमति से यौन संबंध बनाने को क्राइम के दायरे से बाहर करने के सुप्रीम न्यायालय के निर्णय को लेकर सिंगापुर में बहस छिड़ गई हैकानून एवं गृह मामलों के मंत्री के षणमुगम ने बोला कि समाज को निर्णय करना है कि वह सामाजिक मूल्यों से संबंधित मुद्दे पर किस दिशा में जाना चाहता है हिंदुस्तान के उच्चतम कोर्ट के निर्णय के बारे में पूछे जाने पर षणमुगम ने कहा, ‘‘सिंगापुर में अगर आप इस मुद्दे को देखोगे तो इसे लेकर समाज बहुत ज्यादा बंटा हुआ है

Image result for समलैंगिकता को लेकर सिंगापुर में छिड़ी बहस

ज्यादातर लोग धारा 377ए में किसी भी परिवर्तन का विरोध करते हैं वे इसे हटाने के विरोध में है ’’ बहरहाल, इंडियन मूल के वरिष्ठ मंत्री ने बोला कि ‘‘बढ़ते अल्पसंख्यक’’ इसे निरस्त करना चाहते हैं    उन्होंने कहा, ‘‘सरकार बीच में है ’’ द स्ट्रेट्स टाइम्स अखबार ने मंत्री के हवाले से बोला कि यह विषय सामाजिक मूल्यों से संबंधित है

उन्होंने कहा, ‘‘क्या आप अल्पसंख्यकों पर अपने विचार थोप सकते है जब मुद्दा सामाजिक मूल्यों की व्यवस्था से करीबी से जुड़ा हो?’’ षणमुगम ने बोला कि उनकी राय में जीवनशैलियों यौन प्रवृत्ति को क्राइम के दायरे में लाने तथा इसमें शामिल लोगों के साथ क्रिमिनल की तरह बर्ताव करने में सावधानी बरती जानी चाहिए    साथ ही उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन मेरे लिए अपने व्यक्तिगत विचार समाज पर थोपना गलत होगा ’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *