Breaking News

बीजेपी की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की मीटिंग आज से

बीजेपी की राष्ट्रीय  कार्यकारिणी की दो दिवसीय मीटिंग शनिवार को प्रारम्भ होगी. इस मीटिंग में पार्टी इसी वर्ष होने वाले चार राज्यों के विधानसभा चुनाव के साथ अगले वर्ष के लोकसभा चुनाव के लिए चुनावी रणनीति का खाका खींचेगी. मीटिंग में इन राज्यों के साथ-साथ मिशन 2019 के लिए चुनावी मुद्दों पर चर्चा होगी. इसके अतिरिक्त सभी राज्यों की अलग-अलग रिपोर्टिंग होगी. बताते चलें कि इसी वर्ष मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान  तेलंगाना में विधानसभा चुनाव होने हैं. इनमें तीन राज्यों में पार्टी की गवर्नमेंट है.
Image result for बीजेपी की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की मीटिंग आज से

मीटिंग में दोपहर बाद पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के अध्यक्षीय सम्बोधन के पहले पार्टी पदाधिकारियों की मीटिंग में एजेंडा तय होगा. अध्यक्षीय सम्बोधन के बाद सभी प्रदेश अध्यक्ष अपने अपने राज्यों की रिपोर्टिंग देंगे. चुनावी राज्यों पर अलग-अलग चर्चा कर रणनीति तैयार की जाएगी. एक पूरा सत्र लोकसभा चुनाव की तैयारियों की चर्चा पर होगी. मीटिंग में राजनीतिक, आर्थिक  विदेश नीति से संबंधित प्रस्ताव पारित होंगे. इसके अतिरिक्त दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर शोक प्रस्ताव पारित किया जाएगा. मीटिंग के अंत में रविवार को पीएम नरेंद्र मोदी का संबोधन होगा.

चुनावी मुद्दे  इसके भुनाने की बनेगी रणनीति 

मीटिंग में चुनावी राज्यों के साथ अगले लोकसभा चुनाव के लिए न सिर्फ मुद्दे तय होंगे, बल्कि इसे भुनाने की रणनीति भी तैयार होगी. इस क्रम में राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) मोदी गवर्नमेंट की उज्जवला सहित अन्य महत्वाकांक्षी योजनाओं को भुनाने की रणनीति तैयार होगी. इस क्रम में एससी-एसटी एक्ट को उसके मूल स्वरूप में वापस लाने केलिए संविधान संशोधन मामले में दलितों को भुनाने केसाथ नाराज सवर्णों को मनाने की भी रणनीति बनेगी.

ओबीसी आयोग पर विशेष चर्चा 

ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा देने को मोदी गवर्नमेंट मिशन 2019 ही नहीं बल्कि चुनावी राज्यों में भी बड़ा मुद्दा बनाएगी. इस उपलब्धि के माध्यम से पिछड़ा वर्ग को साधने के सभी विकल्पों पर विचार कर एक विस्तृत खाका तैयार किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *