Breaking News

बड़ी खबर: अब भारत में बनेंगे अमेरिकी के इस लड़ाकू विमान के पंख

केंद्र सरकार के ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम के तहत अमेरिका के मशहूर एफ-16 लड़ाकू विमान के पंख भारत में ही बनाए जाएंगे। इस फाइटर जेट को बनाने वाली अमेरिकी कंपनी लॉकहीड मार्टिन ने मंगलवार को इस बात की घोषणा की। मेरीलैंड स्थित लॉकहीड मार्टिन कंपनी ने भारत में एफ-16 के पंखों का निर्माण करने के लिए टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स लिमिटेड (टीएएसएल) के साथ करार किया है।

बता दें कि पिछले साल लॉकहीड मार्टिन और टीएएसएल ने भारत में एफ-16 ब्लॉक-70 लड़ाकू विमानों का निर्माण करने के लिए हाथ मिलाए थे, लेकिन यह करार भारतीय वायुसेना की तरफ से एफ-16 ब्लॉक-70 लड़ाकू विमानों की खरीद को हरी झंडी दिखाए जाने की स्थिति में ही लागू होना था। लेकिन लॉकहीड मार्टिन के अधिकारियों की तरफ से मंगलवार को की गई घोषणा में अब ऐसी कोई शर्त नहीं रखी गई है।

कंपनी के अधिकारियों ने जोर देकर कहा कि यहां एफ-16 के पंखों का उत्पादन शुरू करना भारतीय वायुसेना के इस विमान की खरीद पर निर्भर नहीं है। बता दें कि लॉकहीड की तरफ से हाल ही में भारतीय वायुसेना को अपने विमानों की खरीद के लिए 600 पेज की रिपोर्ट दी गई है।

एफ-16 का पूरा उत्पादन भारत में ही करना चाहती है कंपनी

लॉकहीड कंपनी की तरफ से अपने पूरे एफ-16 विमान निर्माण बेस को भारत में स्थानांतरित करने का प्रस्ताव भी रखा गया है। भारत सरकार को अभी इस प्रस्ताव पर निर्णय लेना है। कंपनी के सामरिक व व्यापारिक विकास विभाग के उपाध्यक्ष विवेक लाल ने कहा, एफ-16 विमानों के पंखों का भारत में निर्माण करने का निर्णय टाटा के साथ सी-130जे (सुपर हर्क्युलिस एयरलिफ्टर विमान) और एस-92 हेलीकॉप्टर के साथ हुई सफल साझेदारी को आगे बढ़ाने के लिए एक स्वाभाविक कदम है। ये हमारा व्यापारिक रणनीतिक निर्णय है, जिससे भारत के साथ हमारी साझेदारी की अहमियत झलकती है।

क्यों खास है ये कदम

– 4604 एफ-16 लड़ाकू विमान अभी तक 28 देशों की वायुसेना को बेच चुकी है कंपनी
– 3000 एफ-16 इस समय अमेरिका समेत 25 अग्रणी देशों की वायुसेना में नियमित उड़ान पर हैं
– 100 पार्ट्स सप्लायर कंपनियों को विंग के निर्माण में काम आने वाले हिस्से सप्लाई करने का मिलेगा मौका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *