Breaking News

राजनाथ सिंह बोले: अभिव्यक्ति की आजादी के नाम पर हिंसा फैलाने की इजाजत नहीं

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सभी को अभिव्यक्ति की आजादी है। वे जो चाहें बोलें लेकिन देश को अस्थिर करने और हिंसा फैलाने की इजाजत नहीं दी जा सकती। साथ ही उन्होंने कहा, प्रेशर कुकर को दबाने का कभी प्रयास नहीं होगा। राजनाथ सिंह ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा असहमति की आवाज को सेफ्टी वॉल्व बताए जाने पर शनिवार को लखनऊ में यह टिप्पणी की।

गृह मंत्री ने कहा, हमारी सरकार लोकतांत्रिक मूल्यों को बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है। जो लोग गिरफ्तार किए गए हैं, उनका रिकॉर्ड देखिए। उनमें से कई 2012 में भी गिरफ्तार हुए थे। उस समय भी ऐसे ही आरोप लगाए गए थे। किसी सरकार को अस्थिर करने, हिंसा की विचारधारा को प्रोत्साहित करने, देश को अस्थिर करने और तोड़ने की साजिश से बड़ा अपराध कोई नहीं हो सकता।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार नक्सलवाद को रोकने में सफल रही है। वामपंथी उग्रवादियों से प्रभावित जिलों की संख्या में कमी आई है। गांव में सिमटने पर नक्सली अब शहरी क्षेत्रों में आ गए हैं। वहां लोगों को अपनी विचारधारा से प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं। हमें अपनी एजेंसियों से इस संबंध में इनपुट मिले हैं।

साथ ही राजनाथ ने जम्मू कश्मीर में दखल के लिए पाकिस्तान को चेताया। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर की समस्या को लेकर पड़ोसी देश भारत को तोड़ने की साजिश करता रहता है। उसे अपनी हरकतों से बाज आना पड़ेगा।

उन्होंने कहा, मैं देश के लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि हम कश्मीर की समस्या का पूरा समाधान देंगे। कश्मीर में सुरक्षाकर्मियों ने करारा जवाब दिया है। जिनके अपहरण हुए थे, उन्हें 20 घंटे में छोड़ना पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *