Tuesday , June 22 2021
Breaking News

खुसखबरी : बिना किसी दवा और कंडोम के करें सेक्स, वैज्ञानिकों की इस ज्वैलरी से नहीं होंगी आप प्रेगनेंट

शादी और बच्चे ये दो ऐसी चीजें हैं जिसे हर व्यक्ति ही अपने जीवन में करता है। पहले अपनी लाइफ को सेटल करना फिर शादी और उसके बाद बच्चे हर कोई इसी तरह से अपनी जिंदगी प्लैन करता है। बता दें कि कई बार ऐसा होता है कि आप माता-पिता बनने के लिए तैयार नहीं होते हो, क्योंकि ये एक बहुत ही बड़ी जिम्मेदारी होती है। जिसके लिए महिलाएं अनचाही प्रेगनेंसी को रोकने के लिए गर्भनिरोधक गोलियों का सहारा लेती हैं। लेकिन ये गोलियां महिलाओं की सेहत पर बुरा असर डालती हैं।

डॉक्टर्स के मुताबिक ये गोलियां महिलाओं के हार्मोंस पर बुरा प्रभाव डालती हैं, जिससे उनकी बॉडी के हार्मोंस का संतुलन बिगड़ जाता है। लेकिन अब वैज्ञानिकों ने महिलाओं को अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए एक दिलचस्प तरीका निकाला है। बता दें कि अब महिलाएं बिना गोलियां खाए ही बर्थ कंट्रोल कर पाएंगी। तो चलिए बताते हैं वैज्ञानिकों की इस उपलब्धि के बारे में।

बता दें कि वैज्ञानिकों ने एक ऐसी अनोखी कॉन्ट्रासेप्टिव ज्वैलरी विकसित की है, जिसकी मदद से महिलाएं बर्थ कंट्रोल कर पाएंगी। महिलाएं इयररिंग, रिंग और नेकलेस पहन कर बर्थ कंट्रोल कर सकती हैं।

दरअसल इस ज्वैलरी में कॉन्ट्रासेप्टिव हार्मोन के पैच लगे हुए हैं। जिसके द्वारा इसे पहनने पर ये कॉन्ट्रासेप्टिव हार्मोन स्किन द्वारा शरीर में एब्जोर्ब हो जाते हैं। बता दें कि यह रिपोर्ट कंट्रोल्ड रिलीज के जर्नल में प्रकाशित की गई है।

इस ज्वैलरी को लेकर शोधकर्ता का कहना है कि कॉन्ट्रासेप्टिव ज्वैलरी महिलाओं के शरीर में पर्याप्त मात्रा में कॉन्ट्रासेप्शन हार्मोन रिलीज करती हैं, जो बर्थ कंट्रोल करने में सहायक होता है। हालांकि इसका उपयोग अभी तक इंसानों पर नहीं किया गया है।

वैज्ञानिकों के मुताबिक, ज्वैलरी की फॉर्म में कॉन्ट्रासेप्टिव बनाने का सिर्फ एक ही मकसद है कि महिलाएं गर्भनिरोधर गोलियों का इस्तेमाल ना करें। इसके साथ ही कॉन्ट्रासेप्टिव के अलावा ज्वैलरी के माध्यम से स्किन की कई और बीमारियों का इलाज किया जा सकता है।

अमेरिका के जॉर्जिया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के मार्क प्रुस्निट्ज ने कहा, ‘आजकल गर्भनिरोधक के जितने विकल्प उपलब्ध हैं, उतनी ही महिलाओं की जरूरतों को पूरा करने की संभावना बढ़ रही है। वहीं, ज्वैलरी पहनना पहले से ही हर महिला की दिनचर्या का हिस्सा है. इसलिए इस तकनीक की मदद से दवाइयों से राहत पाई जा सकती है।’

मार्क प्रुस्निट्ज आगे कहते हैं कि, गर्भनिरोधक ज्वैलरी में ट्रांसडर्मल पैच टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है, जो पहले से ही स्मोकिंग की लत को छुड़ाने, मेनोपॉज को रोकने और कई दूसरी बीमारियों की दवाइयों का संचालन करने के लिए उपयोग किया जाता है। लेकिन अभी तक इससे पहले इस तकनीक को कभी भी ज्वैलरी की फॉर्म में तब्दील नहीं किया गया है। बता दें कि वैज्ञानिक इस ज्वैलरी का उपयोग जानवरों पर कर चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *