Breaking News

भारत ने संगठित तौर पर पाकिस्तान के खेल को नुकसान पहुंचने की कोशिश की

हाल ही में पाकिस्तान ने एक बार फिर विवादित फैसला लिया है ,जिसका असर खेल दुनिया पर भारी पड़ेगा। पाकिस्तान ने मंगलवार को देश में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मैचों के प्रसारण को प्रतिबंधित करते हुएआरोप लगाया कि भारत ने संगठित तौर पर पाकिस्तान के खेल को नुकसान पहुंचने की कोशिश की है। पाकिस्तान के सुचना मंत्री फवद चौधरी ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि प्रधानमंत्री इमरान खान की अगुवाई में कैबिनेट की बैठक में यह फैसला किया गया।

आपको बता दे कि इमरान खान पाक के पीएम बनाने से पहले पाकिस्तान के मशहूर क्रिकेटर थे और क्रिकेट की कामयाबी ने उन्हें स्टार बनाया. भारत पर दोषारोपण करते हुए सुचना मंत्री ने कहा कि भारत ने पाकिस्तान क्रिकेट को नुकसान पहुंचाने की कोई कसर नहीं छोड़ी है।इसके अलावा चौधरी

ने कहा, ”भारत ने पाकिस्तान में क्रिकेट को नुकसान पहुंचाने का संगठित प्रयास किया है और यह हमारे यहां भारत के घरेलू टूर्नामेंट का प्रचार करने की स्वीकृति देने का कोई मतलब नहीं है।” उन्होंने इसके पीछे भारतीय कदम को जिम्मेदार ठहराया। इसके लिए उन्होंने भारतीय आधिकारिक प्रसारणकर्ता पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान सुपर

लीग (पीएसएल) के चौथे सत्र के प्रसारण से टूर्नामेंट के बीच में पीछे हटने , आईएमजी रिलायंस के दुनिया भर में पीएसएल की टेलीविजन कवरेज करने के करार से मुकरने जैसे वाकया का जिक्र किया और प्रसारण प्रतिबंधित करने बात कही। गौरतलब है कि चौधरी ने यह भी कहा कि पाकिस्तान इलेक्ट्रानिक

मीडिया नियामक प्राधिकरण तय करेगा कि आईपीएल के किसी मैच को पाकिस्तान में प्रसारित नहीं किया जाए। साथ ही अपने इस फैसले के नैतिक बचाव में कहा कि पाकिस्तान सरकार यह मानती है कि खेल और संस्कृति का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए लेकिन भारत ने पाकिस्तान के खिलाड़ियों और कलाकारों के खिलाफ आक्रामक रवैया अपनाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *