Breaking News

एनडीए नेताओं और कार्यकर्ताओं का नहीं मिल रहा था समर्थन 

लोकसभा चुनाव को लेकर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के घटक दलों ने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा कर दी है. टिकट बंटवारे में असफल रहे नेताओं के बागी तेवर अभी ठंडे नहीं पड़े थे कि सीतामढ़ी से जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) उम्मीदवार डॉ. वरुण कुमार ने टिकट लौटाने का फैसला कर लिया है. सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक, उन्होंने पटना पहुंचकर पार्टी को सिंबल लौटा दिया है.

जेडीयू उम्मीदवार के द्वारा सिंबल वापस करने को लेकर कई तरह की चर्चा हो रही है. डॉ. वरुण कुमार के नजदीकियों का कहना है कि उन्हें स्थानीय स्तर पर पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं का समर्थन नहीं मिल रहा है.

घोषणा से पहले भी हुआ था विरोध
ज्ञात हो कि जिस समय डॉ. वरुण कुमार के उम्मीदवारी की चर्चा चल रही थी, उस समय स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं ने इसका खुलेआम विरोध किया था. यहां तक कि कई लोगों ने पैसे लेकर टिकट बांटने का आरोप लगाया था. विरोध के बावजूद जेडीयू ने डॉ. वरुण कुमार को उम्मीदवार बनाया था.

सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक, उन्हें जेडीयू और बीजेपी के कार्यकर्ता और नेता तरजीह नहीं दे रहे थे. इस वजह से वह टिकट मिलने के बाद भी खुश नहीं थे. उन्होंने नॉमिनेशन से पहले ही टिकट लौटा दिया है. ज्ञात हो कि सीतामढ़ी में पांचवे चरण यानी 6 मई को वोट डाले जाएंगे.

बिहार में बीजेपी और जेडीयू 17-17 और लोजपा छह सीटों पर चुनाव लड़ रही है. सभी सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा भी हो चुकी है. अब देखना दिलचस्प होगा कि पार्टी किसे टिकट देती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *