Breaking News

भाजपा : अवैध बांग्लादेशी मतदाताओं का नाम मतदाता सूची से हटाए चुनाव आयोग

अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी द्वारा शुक्रवार को एक बैठक बुलाई गई। बैठक में भाजपा ने मांग की कि चुनाव आयोग यह सुनिश्चित करे कि मतदाताओं की लिस्ट में बांग्लादेशी घुसपैठियों का नाम न दर्ज हो जाये। भाजपा ने मांग की है अगर कुछ बांग्लादेशी नागरिकों के नाम मतदाता सूची में शामिल किए जा चुके हैं तो चुनाव के पूर्व उनका नाम मतदाता सूची से हटाया जाए।

जानकारी के मुताबिक दिल्ली भाजपा की तरफ से महामंत्री कुलजीत सिंह चहल और पार्टी के पूर्व विधायक सुभाष सचदेवा ने आयोग के साथ इस मीटिंग में हिस्सा लिया और पार्टी का विचार सामने रखा। कुलजीत सिंह चहल ने कहा कि जहां हम एक तरफ किसी अवैध व्यक्ति को मतदाता सूची में शामिल नहीं होने देना चाहते हैं तो वहीं किसी दिल्लीवासी का नाम मतदाता सूची में पड़ने से बचा न रह जाये, इसकी भी मांग की है। चहल के मुताबिक उन्होंने आयोग से यह मांग की है कि मतदाता सूची में नए युवकों का नाम शामिल करने की प्रक्रिया चुनाव की अधिसूचना जारी किए जाने तक जारी रहनी चाहिए।

अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी द्वारा शुक्रवार को एक बैठक बुलाई गई। बैठक में भाजपा ने मांग की कि चुनाव आयोग यह सुनिश्चित करे कि मतदाताओं की लिस्ट में बांग्लादेशी घुसपैठियों का नाम न दर्ज हो जाये। भाजपा ने मांग की है अगर कुछ बांग्लादेशी नागरिकों के नाम मतदाता सूची में शामिल किए जा चुके हैं तो चुनाव के पूर्व उनका नाम मतदाता सूची से हटाया जाए।

जानकारी के मुताबिक दिल्ली भाजपा की तरफ से महामंत्री कुलजीत सिंह चहल और पार्टी के पूर्व विधायक सुभाष सचदेवा ने आयोग के साथ इस मीटिंग में हिस्सा लिया और पार्टी का विचार सामने रखा। कुलजीत सिंह चहल ने कहा कि जहां हम एक तरफ किसी अवैध व्यक्ति को मतदाता सूची में शामिल नहीं होने देना चाहते हैं तो वहीं किसी दिल्लीवासी का नाम मतदाता सूची में पड़ने से बचा न रह जाये, इसकी भी मांग की है। चहल के मुताबिक उन्होंने आयोग से यह मांग की है कि मतदाता सूची में नए युवकों का नाम शामिल करने की प्रक्रिया चुनाव की अधिसूचना जारी किए जाने तक जारी रहनी चाहिए।

पार्टी ने इस बात पर भी चिंता जाहिर की है कि दिल्ली में अपेक्षाकृत कम महिलाओं का नाम मतदाता सूची में शामिल है जिसकी वजह से मतदान में उनकी भूमिका कम होती है। पार्टी ने मांग की है कि दिल्ली की सभी महिलाओं का नाम इस सूची में शामिल हो जाना चाहिए।

भाजपा के अलावा अरविंद केजरीवाल की पार्टी आम आदमी पार्टी और कांग्रेस यहां प्रमुख दल हैं जो इन पर अपनी किस्मत आजमाएंगे। आम आदमी पार्टी लोकसभा चुनाव में दूसरी बार चुनाव में उतरेगी। पहली बार यानी 2014 के लोकसभा चुनाव में आप या कांग्रेस को कोई सफलता नहीं मिली थी।

पार्टी ने आयोग से यह भी कहा है कि दिल्ली में मतदान का प्रतिशत उतने उच्च स्तर का नहीं रहता जितना कि होना चाहिए, इस बात को देखते हुए चुनाव के पूर्व मतदाता जागरूकता अभियान चलाया जाना चाहिए। दरअसल, देश में अगले वर्ष सत्रहवीं लोकसभा के लिए चुनाव होने हैं। दिल्ली में लोकसभा की सात सीटें है। इन सातों सीटों पर इस समय भाजपा काबिज है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *