Breaking News

चुनावी मुद्दे तय करने में सरकार व विपक्ष में जोर आजमाइश

आगामी आम चुनाव की जमीन तैयार हो गई है। चुनाव प्रचार में विपक्ष का सारा जोर राफेल विमान खरीद और नोटबंदी पर रहेगा। वहीं भाजपा और समर्थक दल शहरी नक्सलवाद और राष्ट्रवाद जैसे भावनात्मक मुद्दे उठाएंगे। इस बार विकास का मुद्दा पीछे छूटने वाला है।

दरअसल, रिजर्व बैंक की रिपोर्ट ने सरकार के लिए कुछ असुविधाजनक तथ्य सामने ला दिए हैं। वहीं, राफेल मामले पर भी विपक्ष जबरदस्त तरीके से हमलावर है। बृहस्पतिवार को केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के ब्लॉग और राहुल गांधी की प्रेस कांफ्रेंस से उभरे ये कुछ संकेत हैं। वहीं, पिछले दिनों कथित नक्सली समर्थकों की महाराष्ट्र सरकार के हाथों गिरफ्तारी से शहरी नक्सलवाद एक बड़ा मुद्दा बन रहा है।

नोटबंदी की घोषणा करते हुए सरकार ने उम्मीद जताई थी कि लगभग तीस फीसदी राशि कालाधन है। वहीं आरबीआई की रिपोर्ट ने बताया है कि बाजार में मौजूद 15 लाख करोड़ रुपये की करेंसी में से महज 10 हजार करोड़ रुपये यानी 0.7 फीसदी ही वापस नहीं आ पाया। यदि नेपाल और भूटान में चल रही पुरानी भारतीय करेंसी को जोड़ लिया जाए तो यह राशि संभवत: और कम होती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *