Breaking News

32 युवकों और एक युवती से पूछताछ, हाथ लगीं अहम जानकारियां

उत्तराखंड के हल्द्वानी में हुए खौफनाक पूनम हत्याकांड का पुलिस दूसरे दिन भी खुलासा नहीं कर पाई। 32 संदिग्ध युवकों और एक युवती से पूछताछ जरूर की गई, लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकला। आला अधिकारियों के निर्देश पर एसटीएफ की टीम को भी खुलासे के लिए लगाया गया है। हालांकि, पुलिस को करीबियों पर शक है लेकिन पेशेवर गिरोह भी जांच के दायरे में हैं। पेशेवर गिरोहों की धरपकड़ को एसपी सिटी के नेतृत्व में पुलिस की दो टीमें रामपुर और बरेली भेजी गई हैं।
पुलिस ने बनभूलपुरा, मुखानी और भोटिया पड़ाव से लेकर बरेली रोड के जिन युवकों से पूछताछ की, उन्होंने पूनम और उसकी बेटी अर्शा के बारे में अहम जानकारियां दीं हैं। लक्ष्मी दत्त पांडे के घर किन लोगों का आना-जाना था, इस बारे में भी बताया है। पुलिस ने डंपर चालकों और अन्य संदिग्धों से पूछताछ की है। कुछ लोगों ने लक्ष्मी दत्त पांडे के गुस्से के बारे में भी बताया।एसएसपी जन्मेजय खंडूरी ने कहा कि मुख्य दरवाजा कातिलों ने ठीक वैसे ही हाथ अंदर डालकर खोला जैसे परिवार के लोग खोलते थे। ऐसा कोई ऐसा करीबी ही कर सकता है, जिसे घर के बारे में सब पता हो। यदि पेशेवर गैंग होता तो रॉड से ताला तोड़ सकता था। पट्टे से बंधे पालतू कुत्ते के भौंकने पर भी पूनम और अर्शा की नीद नहीं टूटी। इसी कारण कातिल मां बेटी के सोते समय अंदर कमरे में घुस गए। अपनी उपस्थिति छिपाने के लिए कातिलों ने पालतू कुत्ते को मौत के घाट उतार दिया।

युवती ने कहा, शक के चलते अर्शा से हुई थी मारपीट

युवतियों के बीच मारपीट का वीडियो वायरल होने के मामले में पुलिस के अलावा एसटीएफ की टीम ने बुधवार को एक युवती से पूछताछ की। उसने पुलिस को कई चौंकाने वाली जानकारियां दीं। उसने बताया कि शक के चलते अर्शा से मारपीट हुई थी। उसने तीन हजार रुपये के लेनदेन की बात भी कही। पूछताछ के बाद एसटीएफ ने युवती को छोड़ दिया।युवती ने बताया कि उसकी अर्शा से पहले बातचीत होती थी, लेकिन पिटाई की घटना के बाद उससे झगड़ा हो गया था। अर्शा को शक के चलते उसके प्रति गलतफहमी हो गई थी। हालांकि, अर्शा ने उसे मैसेज किया था लेकिन उसने कॉल नहीं की। युवती ने बनभूलपुरा के एक युवक के बारे में जानकारी दी तो पुलिस ने उसे भी हिरासत में ले लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *