Breaking News

आतंकी ट्रेनिंग के लिए युवाओं को सीमा पार भेजता था डिप्टी जेलर

आतंकी प्रशिक्षण के लिए युवकों को सीमा पार भेजने की श्रीनगर सेंट्रल जेल में साजिश रचने के आरोप में जम्मू के अंबफला जिला जेल के डिप्टी सुपरिटेंडेंट फिरोज अहमद लोन को एनआईए ने जम्मू से हिरासत में लिया है। लोन इससे पहले श्रीनगर सेंट्रल जेल में तैनात था। उसे बुधवार को रिमांड के लिए एनआईए कोर्ट में पेश किया जाएगा। इसके साथ ही एक अन्य साजिशकर्ता को भी एनआईए ने गिरफ्तार कर दस दिन की रिमांड पर लिया है।

एनआईए ने अपनी जांच में पाया कि श्रीनगर के सेंट्रल जेल में तत्कालीन डिप्टी जेल सुपरिटेंडेंट फिरोज अहमद लोन, इशाक पल्ला तथा दो युवाओं सुहैल अहमद भट व दानिश गुलाम लोन के बीच जेल परिसर में 25 अक्टूबर 2017 को बैठक हुई। इसमें युवकों को ट्रेनिंग के लिए सीमा पार भेजने की साजिश रची गई। शोपियां का पल्ला विभिन्न मामलों में जेल में बंद था जो मुख्य साजिशकर्त्ता रहा। कुपवाड़ा पुलिस ने 30 अक्टूबर को एलओसी के पास से सुहैल और दानिश को गिरफ्तार किया। पूछताछ में उन्होंने पीओके में आतंकी प्रशिक्षण लेने जाने की बात स्वीकार की। एनआईए के अनुसार पकड़े जाने से पहले युवक ब्लैकबेरी मैसेंजर के जरिये एक दूसरे के संपर्क में थे।

इसके बाद एनआईए ने केस संख्या आरसी-07/2018 के तहत मामला दर्ज करते हुए जांच शुरू की। पल्ला तथा बडगाम निवासी फिरोज दोनों को मंगलवार को एनआईए ने हिरासत में लिया।  अधिकारों का दुरुपयोग करते हुए देश विरोधी गतिविधियों के लिए फिरोज ने काम किया। केस दर्ज होने के बाद फिरोज का तबादला जम्मू में कर दिया गया था। सूत्रों का कहना है कि दोनों युवक जैश से जुड़े हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *