Breaking News

खान में फंसे खनन कर्मियों की नही हुई बरामदगी न्यायालय ने जताई ये नाराज़गी

अब से तक़रीबन एक माह पूर्व मेघालय की एक गैरकानूनी कोयला खान में फंसे 15 खनन कर्मियों की अब तक बरामदगी नहीं होने से सुप्रीम न्यायालय नाराज हो गया है.शीर्ष न्यायालय ने मंगलवार को मेघालय में विभिन्न स्थानों पर चल रहे खनन से निकले कोयले की ढुलाई पर प्रतिबंध लगा दिया.

विभिन्न मुद्दों पर जवाब तलब

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जस्टिस एके सीकरी  जस्टिस एसए नजीर की पीठ ने यह फैसला उस याचिका को ठुकराते हुए दिया, जिसमें विभिन्न स्थानों पर खोदे गए कोयले की ढुलाई की इजाजत देने की मांग की गई थी. पीठ ने मेघालय सरकार, केंद्र गवर्नमेंट  अन्य को नोटिस जारी करते हुए उनसे राज्य में कोयला खनन से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर जवाब भी तलब किया  मामले की सुनवाई 19 फरवरी तक स्थगित कर दी.

इतनी गैरकानूनी खदानें मौजूद

सुनवाई के दौरान इस मामले में एमिकस क्यूरी बनाए गए वरिष्ठ वकील ने एक रिपोर्ट का हवाला दिया. गुवाहाटी न्यायालय के रिटायर्ड जज बीपी ककोटी की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय कमेटी की इस रिपोर्ट में राज्य गवर्नमेंट के अधिकारियों ने गैरकानूनी कोयला खनन की बात स्वीकारी थी. रिपोर्ट में बताया गया था कि मेघालय में करीब 25 हजार खान हैं, जिनमें से अधिकांश गैरकानूनी हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *