Breaking News

ब्लाक प्रमुख माधुरी यादव ने पत्र लिखकर लगाई सुरक्षा की गुहार, नहीं की जा रही सुनवाई

प्रतापगढ़. समाजवादी पार्टी के नेता सभापति यादव के हत्या की आशंका जताई जा रही है। यह हत्या उनकी पेशी के दौरान या रास्ते में की जा सकती है। इसके लिए उनकी पत्नी माधुरी यादव ने आईजी, डीआईजी, जिलाधिकारी, मुख्यमंत्री के अलावा भी उन्होंने सबको पत्र लिखकर सूचित कर दिया है। फिर भी कोई सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध नहीं कराई जा रही है।

सभापति यादव बिकौना थाना आसापुर देवसरा प्रतापगढ़ के रहने वाले हैं। सभापति पूर्व प्रधान, पूर्व जिला पंचायत सदस्य, पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य व समाजवादी पार्टी के एक सक्रिय नेता हैं । इनकी पत्नी माधुरी यादव वर्तमान में ब्लाक प्रमुख हैं और समाजवादी पार्टी की पदाधिकारी भी हैं।

माधुरी ने सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अपने पति के हत्या की आशंका जताई है। उचित सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध कराने के लिए उन्होंने आईजी, डीआईजी, जिलाधिकारी और मुख्य़मंत्री को पत्र लिखकर भी अवगत कराया है लेकिन अब तक कोई कार्यवाही नहीं की गई है। इसके अलावा इस विषय में मुख्य न्यायाधीश को भी पत्र लिखकर अवगत कराया गया है। इन सबके पीछे राजनैतिक रंजिश बताई जा रही है।

माधुरी यादव ने कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह एवं उनके बेटे पर राजीव प्रताप सिंह उर्फ नंदन सिंह पर उनके पति की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया है। इसके अलावा उन्होंने पूर्व में झूठी साजिश रच परेशान करने एवं नीचा दिखाने का भी आरोप लगाया है। उन्होंने यह भी कहा है कि उनके राजनैतिक प्रतिद्वंदी राजेंद्र प्रताप सिंह सत्ता का दुरुपयोग करते हुए 1999 से अब तक फर्जी मुकदमे कर परेशान करते रहे है व हमेशा नीचा दिखाने की कोशिश करते रहे हैं। अब वह हत्या की साजिश भी रच रहे हैं।

गौरतलब है कि 4 फरवरी 2019 को सुबह पुलिस ने सभापति यादव को गिरफ्तार कर प्रतापगढ़ जेल भेज दिया था। जिसके एक सप्ताह बाद उन्हें कौशाम्बी जेल में स्थानांतरित कर दिया गया था। 30 अगस्त 2018 को उनकी फतेहपुर जेल में पेशी है। जहां जाते समय रास्ते में उनके हत्या की साजिश रची गई है।

माधुरी यादव ने मांग की है कि उनके पति को उचित सुरक्षा उपलब्ध कराई जाए और जेल में ही वीडिया कांफ्रेसी के माध्यम से सुनवाई की जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *