Breaking News

यह टीम इंडिया की 150वीं जीत

टीम इंडिया ने भारत  ऑस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्ट मैच की सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच 137 रन से जीत कर इतिहास रच दिया यह टीम इंडिया की टेस्ट मैचों में 150वीं जीत है इस मैच में भारतीय टीम के लिए जसप्रीत बुमराह ने बेहतरीन गेंदबाजी कर 9 विकेट लिए 399 रनों का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम 261 रनों पर आउट हो गई जिसमें पैट कमिंस ने सबसे ज्यादा 63 रन बनाए पिछले 71 वर्ष के इतिहास में पहली बार भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया में किसी टेस्ट सीरीज में 2-1 की बढ़त ली है

पहला टेस्ट मैच एडिलेड में जीतने के बाद भारतीय टीम ने पर्थ टेस्ट करारी पराजय से गंवाया था जिसके बाद भारतीय टीम पर सवालिया निशान लगाने लगे थे, लेकिन विराट सेना ने मेलबर्न में शानदार वापसी की  टेस्ट मैच अपने नाम कर लिया

चौथे दिन ही जीत जाती टीम इंडिया
भारतीय टीम यह मैच चौथे दिन ही जीत जाती अगर पैट कमिंस इंडियन गेंदबाजों के सामने दीवार बनकर न खड़े होते 399 रनों का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलिया की आरंभ अच्छी नहीं रही पहले दो विकेट केवल 10 ओवर के भीतर गिर गए इसके बाद चाय तक ऑस्ट्रेलिया के पांच विकेट गिर गए तीसरे सत्र में 62 ओवर तक ऑस्ट्रेलिया के सात विकटे गिर चुके थे लेकिन इसके बाद पैट कमिंस ने मोर्चा संभालते हुए शानदार हाफ सेंचुरी लगा डाली  इंडियन गेंदबाजों को विकेटों के लिए तरसा दिया

पैट कमिंस ने तरसाया हिंदुस्तान को
हिंदुस्तान को ऑस्ट्रेलिया का 8वां विकेट 71वें ओवर में मिचेल स्टार्क के रूप में गिरा, लेकिन दिन के निर्धारित 77 ओवर होने के बाद भी हिंदुस्तान को दो विकेट नहीं मिले भारतीय टीम ने आधा घंटा भी लिया  उसे 8 ओवर  करने की इजाजत मिली लेकिन कमिंस  नाथन लॉयन ने अपनी टीम की पराजय एक दिन टाल दी

पहले दिन सलामी जोड़ी ने किया कमाल
इस मैच से पहले भारतीय टीम की सलामी जोड़ी नाकाम रही थी तो विराट कोहली मयंक अग्रवाल  हनुमा विहारी की एक नयी ओपनिंग जोड़ी के साथ एमसीजी पर उतरे थे मयंक का यह डेब्यू टेस्ट मैच था  इस वर्ष अपना पहला टेस्ट मैच खेल चुके विहारी ने ज़िंदगी में कभी ओपनिंग नहीं की थी मेलबर्न की घास वाली पिच पर टॉस जीतने के बाद विराट ने बल्लेबाजी करने का निर्णय किया  इस जोड़ी 100 से ज्यादा गेंदें नाबाद खेल कर सभी को दंग कर दिया

विहारी के डिफेंस की तारीफ
विहारी ने रन बनाने के बजाय मजबूत डिफेंस दिखाते हुए 66 गेंदों तक अपना विकेट बचाए रखा वहीं मयंक ने भी मजबूत टेम्परामेंट दिखाते हुए विकेट बचाने के साथ रन भी बनाए मयंक दूसरे सत्र में 76 रनों की शानदार पारी खेल कर अपने टेस्ट करियर का शानदार आगाज किया

पहले दिन दो, जबकि दूसरे दिन गिरे केवल 5 विकेट
पहले दिन भारतीय टीम की शानदार बल्लेबाजी के कारण दो ही विकेट गिरे इसके बाद दूसरे दिन चेतेश्वर पुजारा ने शानदार मजबूत 106 रनों की पारी खेली जबकि विराट कोहली (82) शतक से चूक गए इसके अतिरिक्त रोहित शर्मा की फिफ्टी,  रहाणे (34)  पंत (39) की उपयोगी पारियों की मदद से विराट ने आकस्मित ही टीम को स्कोर 7 विकेट का नुकसान पर 443 रन  हो जाने पर पारी घोषित कर दी हालाकि दिन के आखिर में भारतीय टीम 6 ओवरों में ऑस्ट्रेलिया का कोई भी विकेट गिराने में नाकामयाब रही

केवल 151 रनों पर सिमटी ऑस्ट्रेलिया
पहले दो दिन केवल 7 विकेट गिरे तो लगने लगा था कि इस मैदान पर हुए पिछले कई मैचों में की तरह ऑस्ट्रेलिया भी लंबी पारी खेलेगा  टेस्ट ड्रॉ हो जाएगा, लेकिन जसप्रीत बुमराह की अगुआई में भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया की पारी केवल 151 रनों पर समेट दी  हिंदुस्तान की जीत की कहानी की आरंभ कर दी हिंदुस्तान को 292 रनों की बढ़त के बाद भी तीसरे दिन के अंतिम सत्र में विराट कोहली ने एक बार  चौंकाया जब उन्होंने ऑस्ट्रेलिया को फॉलोऑन नहीं खिलाते हुए दूसरी पारी  में पहले बल्लेबाजी को चुना

दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया को भी पिच का लाभ मिला  तीसरे दिन का खेल का समाप्त होने तक ऑस्ट्रेलिया ने हिंदुस्तान के 5 विकेट केवल 54 रन पर गिरा दिए इसके बावजूद भारतीय टीमकी स्थिति बहुत मजबूत रही चौथे दिन जब भारतीय टीम का स्कोर 8 विकेट पर 106 रन हो गया विराट कोहली ने पारी घोषित कर दी जिससे ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 399 रनों का लक्ष्य मिला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *