Breaking News

तमिलनाडु में 24 वर्षीय गर्भवती महिला एचआईवी से संक्रमित, चढ़ाया गया एचआईवी संक्रमित खून

तमिलनाडु में एक 24 वर्षीय महिला एचआईवी से संक्रमित हो गई है. राज्य के विरुधुनगर जिले के सरकारी अस्पताल में महिला को एचआईवी से संक्रमित खून चढ़ाया गया है. बीते दो वर्षों में लापरवाही के चलते तीन लैब टेक्नीशियन को सस्पेंड किया जा चुका है. यहां 3 दिसंबर को महिला को एचआईवी से संक्रमित एक पुरुष का खून चढ़ाया गया. 
करीब दो वर्ष पहले जब इस आदमी ने रक्त दान किया था तब उसके खून में एचआईवी के संक्रमण पाए गए थे. उसे हेपेटाइटिस-बी भी था. ये जांच सरकारी अस्पताल की लैब में की गई.हालांकि उसे इस बारे में कुछ नहीं बताया गया. अधिकारियों ने बताया कि बीते महीने भी आदमी ने सरकारी बल्ड बैंक में रक्त दान किया था. जब तक एचआईवी संक्रमण के बारे में कुछ पता चलता तब तक महिला को खून चढ़ाया जा चुका था.   

महिला के एचआईवी से संक्रमित होने के बाद एंटी-रेट्रोवाइरल इलाज किया गया. प्राधिकारियों का कहना है कि बच्चे को भी एचआईवी हुआ है या नहीं ये उसके जन्म के बाद ही पता चल पाएगा. बता दें एचआईवी संभोग, संक्रमित खून से फैलता है. इसके अतिरिक्त अगर मां एचआईवी से संक्रमित है तो उसके बच्चे को भी ये सकता है. एचआईवी वायरस से संक्रमित मां का दूध यदि बच्चो को पिलाया जाए तो उससे भी बच्चे को एचआईवी हो सकता है.

इस मामले पर तमिलनाडु सेहत विभाग के निदेशक चिकित्सक आर मनोहरन का कहना है कि खामी दो बार हुई है. हमें लैब टेक्नीशियन पर संदेह है, जिसने एचआईवी का परीक्षण नहीं किया. यह दुर्घटनावश हुआ है जानबूझकर नहीं किया गया. हमने जांच के आदेश दे दिए हैं. हम उस आदमी का भी उपचार कर रहे हैं. उन्होंने बोला कि गवर्नमेंट की ओर से महिला उसके पति को इस कथित लापरवाही के बाद जॉब  मुआवजे के पेशकश की गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *