Breaking News

दो स्त्रियों ने श्रद्धालुओं के कड़े विरोध के बावजूद तड़के सबरीमला मंदिर पहुंचने के लिए प्रारम्भ कर दी चढ़ाई

रजस्वला आयु वर्ग की दो स्त्रियों ने श्रद्धालुओं के कड़े विरोध के बावजूद सोमवार तड़के सबरीमला मंदिर पहुंचने के लिए चढ़ाई प्रारम्भ कर दी  लेकिन विरोध के चलते इन्हें भी बेस कैंप वापस लौटना पड़ा रविवार को सबरीमला में बेहद नाटकीय घटनाक्रम देखने को मिला जब हजारों श्रद्धालुओं ने पुलिस की सुरक्षा में मंदिर की ओर बढ़ रहीं 50 साल से कम आयु की 11 स्त्रियों के एक समूह का रास्ता रोक दिया था

मल्लपुरम की बिन्दु  कोझिकोड की दुर्गा पुलिस के भारी सुरक्षा के बीच मंदिर की ओर बढ़ रही थीं बिन्दु ने संवाददाताओं से कहा, “हम यहां ईश्वर अयप्पा के ‘दर्शन’ करने आए हैंसुप्रीम न्यायालय के आदेश को लागू किया जाना चाहिए  उम्मीद है कि पुलिस हमें सुरक्षा मुहैया कराएगी ”

बिन्दु  दुर्गा पुलिस की सुरक्षा में सनिधानम से एक किलोमीटर दूर मराकूटम पहुंच गई वे अपने साथ  पुलिसवालों के आने का इंतजार कर रही थीं इन स्त्रियों को इससे पहले श्रद्धालुओं ने सबरीमला के रास्ते में पड़ने वाले अप्पाचीमेदु में रोक दिया था जिन्हें बाद में पुलिस ने हटा दिया

लेकिन बाद में इन स्त्रियों के विरोध प्रदर्शन के चलते वापस पंपा बेस कैंप लौटाया गया

उधर बिंदू नाम की इस महिला के मल्लापुरम स्थित घर के बाहर ईश्वर अयप्पा के भक्तों ने विरोध प्रदर्शन किया वहीं बीजेपी ने भी इन स्त्रियों के घर के सामने प्रदर्शन प्रारम्भ कर दिया है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *