Breaking News

राजग बिखरने से बचाने के लिए बीजेपी ने कोशिशें की तेज

लोकसभा चुनाव से पहले राजग को बिखरने से बचाने के लिए बीजेपी ने कोशिशें तेज कर दी हैं. इसी क्रम में पार्टी ने नाराज लोजपा को मनाने के लिए बिहार में लोकसभा की छह सीट देने के साथ असम में राज्यसभा की एक सीट देने का प्रस्ताव दिया है. लोजपा बीजेपी से उत्तर प्रदेश की एक लोकसभा सीट भी मांग रही है. हालांकि बोला जा रह है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात के बाद रामविलास पासवान  चिराग पासवान ने नए प्रस्ताव पर हामी भर दी है.

नाराज लोजपा नेताओं को साधने के लिए बीजेपी ने शुक्रवार को दिन भर सियासी एक्सरसाइज़ की. इस क्रम में वित्त मंत्री अरुण जेटली से रामविलास  चिराग की कई दौर की बैठकें हुईं. इसके बाद देर शाम गुजरात से लौटते ही शाह ने दोनों नेताओं के साथ नए फार्मूले पर चर्चा की. जदयू सूत्रों का कहना है कि नीतीश कुमार हर मूल्य पर लोजपा को राजग में बनाए रखना चाहते हैं. माना जा रहा है कि नीतीश की शुक्रवार रात या शनिवार को होने वाली मीटिंग के बाद सीट फॉर्मूले को अंतिम रूप दिया जाएगा.

नए फॉर्मूले में सूबे की 40 सीटों में से जदयू  बीजेपी 17-17  लोजपा छह सीटों पर चुनाव लड़ेगी. पहले बीजेपी को 18, जदयू को 17  लोजपा को 5 सीटें देने का निर्णय हुआ था.बताया जाता है कि लोजपा को असम से एक सीट देने के प्रस्ताव का राज्य के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के विरोध के कारण बीजेपी पीछे हट गई थी.

शाह-नीतीश की मीटिंग के बाद ही साफ होगी तस्वीर

भले ही शुक्रवार को लोजपा सांसद रामचंद्र पासवान ने राजग में बने रहने की घोषणा की, मगर स्थिति अभी साफ नहीं है. लोजपा सूत्रों का कहना है कि नए प्रस्ताव पर पार्टी में अभी मंथन होना है. शाह  नीतीश के साथ होने वाली मीटिंग के बाद ही सही तस्वीर सामने आएगी. वैसे चिराग के बीजेपी पर हमलों को फिल्हाल दबाव की पॉलिटिक्स के रूप में देखा जा रहा है. मगर लोजपा अध्यक्ष पासवान ने जिस प्रकार आकस्मित बदलने की अब तक पॉलिटिक्स की है, उससे मौजूदा सियासी हालात राजग के अनुकूल नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *