Breaking News

लंदन के सबसे महंगे इलाके में रहता था बिचौलिए क्रिस्चन मिशेल का परिवार

अगस्ता वेस्टलैंड चॉपर घोटाले के आरोपी बिचौलिए क्रिस्चन मिशेल  उसके जर्मन पिता वोल्फगैंग लंदन के सबसे महंगे इलाके में 50 लाख पाउंड (लगभग 44.2 करोड़ रुपये) के बंगले में रहते हैं. उसकी मां भी रईसों की तरह रहती हैं  नाइट्सब्रिज में उनके पास भी लगभग 16 करोड़ रुपये का घर है. 2016 में यह घर उनकी बेटी ने 8 करोड़ रुपये कैश देकर खरीदा गया था.

CBI के मुताबिक मिशेल के पिता वोल्फगैंग मैक्स रिचर्ड मिशेल भी अगस्ता वेस्टलैंड के कंसल्टेंट के रूप में 1980 में हिंदुस्तान में कार्य करते थे. बताया जाता है कि 1987 से 1996 के बीच जिस कंपनी को वह प्रमोट करते थे उसने हिंदुस्तान में 17.6 करोड़ रुपये कमाए थे.

फूक्स  मिशेल दोनों यूके रजिस्टर्ड एक चैरिटी संस्थान क्वेडा एजुकेशनल फाउंडेशन के जरिये इंडियन विद्यार्थियों को विदेश में एजुकेशन पाने के लिए मदद मुहैया कराती है. चैरिटी कमीशन के मुताबिक यह संस्थान पिछले दस महीनों के अपने आर्थिक गतिविधयों का ब्योरा उपलब्ध कराने में असफल रही. इस कारण नोटिस जारी हुआ है.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने जब मिशेल की मां के लंदन स्थित आवास का रूख किया तब फूक्स ने सिक्योरिटी इंटरकॉम के जरिये यह बात मानी कि वह क्रिस्चन मिशेल की मां हैं मगर उन्होंने साक्षात्कार देने से इंकार कर दिया.

चैरिटी कमीशन के प्रवक्ता ने बताया कि जानकारी नहीं उपलब्ध कराए जाने पर ट्रस्टी को नोटिस दिया गया है, इसकी जांच की जाएगी कि इन्होने नियमों का उल्लंघन किया है या नहीं. मिशेल की चैरिटी संस्था के 2 अन्य ट्रस्टियों में रिटायर्ड मेजर जनरल एससीएन जटार  एसएन इनामदार शामिल हैं.  चैरिटी कमीशन को यह अधिकार है कि वह दोषी पाए जाने पर ट्रस्टी के अधिकारों को 15 वर्ष तक के लिए स्थगित कर सकता है.

बता दें कि मिशेल पर बिचौलिये के रूप में पूर्व इंडियन वायुसेना प्रमुख एस पी त्यागी सहित इंडियन अधिकारियों को घूस देने  षड्यंत्र रचने का आरोप है. यूपीए गवर्नमेंट के कार्यकाल में 2010 में  ब्रिटेन की हेलीकॉप्टर बनाने वाली इकलौती कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड को 4,447 करोड़ के 12 एडब्लयू  101 हेलीकॉप्टर के ऑर्डर दिए गए थे.

CBI के मुताबिक इस वीवीआईपी चॉपर डील के मामले में अगस्ता वेस्टलैंड की तरफ से 337 करोड़ की घूस दी गई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *