LPG गैस सिलेंडर की बढ़ी कीमतों पर राहुल गांधी का केंद्र सरकार पर हमला

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल : एलपीजी गैस सिलेंडर (LPG Gas Cylinder) की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Central Government) पर निशाना साधा है। सरकारी तेल मार्केटिंग कंपनियों ने बुधवार को 19 किग्रा कमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमत में 100 रुपए से ज्यादा की वृद्धि की है जिससे दिल्ली में कीमत बढ़कर 2,101 रुपये हो गई। ऐसे में राहुल गांधी ने बढ़ी हुई कीमत को लेकर केंद्र सरकार की आलोचना की है।उन्होंनें केंद्र सरकार पर तंज कसते हुए ट्वीट किया, जैसे-जैसे महंगाई बढ़ी, जुमलों के भाव गिर गए। राहुल गांधी का बयान ऐसे समय में सामने आया है जब एलपीजी गैस सिलेंडर की कीमतों में तेजी से बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। इससे पहले अक्टूबर में 9 किग्रा कमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमत 1734 रुपए थी। वहीं 1 नवंबर को 266.50 रुपए की वृद्धि के बाद ये बढ़कर 2000.50 रुपए हो गई। अब एक बार फिर इसमें 100 रुपए से ज्यादा का इजाफा दर्ज किया गया है जिसके बाद अब इसके दाम 2,101 रुपए पर पहुंच गए हैं। 14.2 किग्रा के बिना सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में कोई इजाफा दर्ज नहीं किया गया है।

इससे पहले, राहुल गांधी ने शीतकालीन सत्र की शेष अवधि के लिए 12 राज्यसभा सांसदों के निलंबन पर भी खुलकर अपनी राय रखी थी। उन्होंने कहा था कि विपक्ष के सदस्यों की ओर से माफी मांगने का सवाल ही नहीं है क्योंकि सरकार संसदीय नियमों का उल्लंघन करके और गलत ढंग से निलंबन का प्रस्ताव लाई, जिसके लिए उसे माफी मांगनी चाहिए। मुख्य विपक्षी दल ने यह भी कहा था कि निलंबन रद्द किया जाना चाहिए ताकि सदन सुचारू रूप से चल सके।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि संसद में जनता की बात उठाने के लिए माफी बिल्कुल नहीं मांगी जा सकती। उन्होंने ट्वीट किया, किस बात की माफी? संसद में जनता की बात उठाने की? बिलकुल नहीं। इस मुद्दे को लेकर संसद के दोनों सदनों में मंगलवार को कांग्रेस ने वाकआउट किया। पार्टी ने राज्यसभा में कार्यवाही का पूरे दिन तक बहिष्कार किया। वहीं बुधवार को भी राज्यसभा में विपक्ष का हंगामा जारी रहा जिसके बाद सदन की कार्यवाही को गुरुवार तक के लि स्थगित कर दिया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button