Breaking News

संयुक्त देश महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने मतदान के बाद बोला, वैश्विक समझौते को महासभा ने कर लिया स्वीकार

आव्रजन पर अब तक की पहली अंतर्राष्ट्रीय योगदान संरचना को आधिकारिक तौर पर समर्थन दिया है इसका मकसद उन मुद्दों का प्रभावी तरीके से हल निकालना है जो विश्व के करीब 26 करोड़ विस्थापित लोगों से जुड़े हुए हैं

सुरक्षित, व्यवस्थित  नियमित आव्रजन के लिए वैश्विक समझौते को महासभा ने स्वीकार कर लिया इस समझौते के पक्ष में 152 मत पड़े जबकि चेक गणराज्य, हंगरी, इजराइल, पोलैंड  अमेरिका ने इसके विरूद्ध मत डाला वहीं, 12 सदस्यों ने मतदान नहीं किया साथ ही अलावा 24 सदस्य राष्ट्र मतदान में भाग लेने के लिए उपस्थित नहीं थे

भारत उन 15 राष्ट्रों में था जिन्होंने वैश्विक समझौते के समर्थन वाले प्रस्ताव के पक्ष में मत डाला वैश्विक नेताओं ने इस समझौते को 10 दिसंबर को मोरक्को के मराकेश में स्वीकार किया था

अंतरराष्ट्रीय आव्रजन के सभी पहलुओं पर एक साझा दृष्टिकोण को लेकर बना यह दस्तावेज पहला तय वैश्विक ढांचा है संयुक्त देश महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने मतदान के बाद बोलाकि यह दस्तावेज राष्ट्रीय प्रभुत्व  सार्वभौमिक मानवाधिकारों समेत वैश्विक समुदाय के मूल सिद्धांतों की पुन: पुष्टि करता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *