राजनाथ सिंह ने बताया, सीएम योगी के कंधे पर हाथ रखकर क्या बोले थे पीएम मोदी

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल  : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को सीतापुर में आयोजित बूथ अध्यक्ष सम्मेलन में एक बड़ा खुलासा किया। उन्होंने बताया कि कुछ दिन पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपनी और प्रधानमंत्री मोदी की एक फोटो ट्वीट की थी, जिसमें पीएम उनके कंधे पर हाथ रख कर उन्हें कुछ बता रहे थे। उन्होंने कहा कि फोटो के वायरल होते ही लोग परेशान हो गए आखिर उन्होंने योगी जी के कान में क्या कहा था। राजनाथ सिंह ने बताया कि पीएम ने कहा कि योगीजी तेज तर्रार बैटिंग करो। पूरी मजबूती से खेलो। विजय निश्चित है।इससे पहले राजनाथ सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ की। राजनाथ सिंह बोले- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुझे कहा था कि हमारे घोषणा पत्र में कोई ऐसी बात ना आ जाए जिसे हम पूरा ना कर पाएं। किसी पार्टी का कोई नेता इस तरह चिंता नहीं करता है। लोग कहते हैं कि घोषणा पत्र में जो भी डालना है डाल दो जनता की आंखों में धूल झोक कर सत्ता हासिल कर लो, लेकिन ऐसी सत्ता हम चिमटी से भी छूना नहीं चाहेंगे। हम जनता की आंखों में धूल झोक कर नहीं, जनता की आंखों में आंखें डालकर राजनीति करना चाहते हैं। सीतापुर के टीडी पीजी कालेज के उमानाथ सिंह स्टेडियम में आयोजित बीजेपी के इस बूथ सम्मेलन में अवध क्षेत्र के 15 जिलों के करीब 40 हजार बूथ अध्यक्ष शामिल हुए।

 

राजनाथ सिंह ने कहा कि आज आप सबकी उमंग, उत्साह देख रहा हूं, जो चमक आपके अंदर देख रहा हूं उसके लिए आपका धन्यवाद है, पार्टी आपका अभिनंदन करती है, आप हमारी ताकत आप हमारी पार्टी की जान हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि जिस भारत-चीन के बार्डर रेजंगला की धरती पर मुझे जाने से रोका जा रहा था, वहां का तापमान-20 डिग्री रहता है। लेकिन जो जवान ऐसी विषम परिस्थितयों में खड़े होकर देश की सीमा की रक्षा करते हैं, वहां मुझे जाने से कोई नहीं रोक सकता है। ये आध्यात्म की धरती है, ये देश की सुरक्षा करने वाले कैप्टन मनोज पांडेय की धरती है, आज यहां बूथ अध्यक्षों का सम्मेलन इसी धरती पर हो रहा है। मैं कह सकता हूं कि इस बार भी भाजपा को दो तिहाई बहुमत से जीतने से कोई नहीं रोक सकता है।

राजनाथ सिंह को अवध और काशी क्षेत्र की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इससे पहले राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गोरखपुर और कानपुर में बूथ अध्यक्षों का सम्मेलन को संबोधित कर चुके हैं। अवध क्षेत्र के सम्मेलन में उन सीटों पर भी खास ध्यान दिया जाएगा जिन पर 2017 में भाजपा जीत नहीं सकी थी। उन सीटों के लिए बीजेपी ने अलग से स्ट्रेटेजी बनाई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button