पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर कर्मचारियों का प्रदर्शन

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल

लखनऊ : अटेवा पेंशन बचाओ मंच के प्रदेश अध्यक्ष विजय बन्धु के आवाहन पर मंच ने पुरानी पेंशन बहाली को लेकर पेंशन शंखनाद रैली का आयोजन रविवार को इको गार्डेन में किया। पुरानी पेंशन के मुद्दे पर शिक्षकों/कर्मचारियों की लाखों की भीड़ उमड़ पड़ी। हजारों की संख्या में महिलाएं रैली में उमड़ी और पुरानी पेंशन बहाली मुद्दे को लेकर रोष व्याप्त किया।

बन्धु ने कहा जिस प्रकार सरकार ने किसान बिल को वापस किये हैं, उसी प्रकार नई पेंशन योजना कर्मचारियों के लिए पूरी तरह फ्लॉप साबित हुई है। इसलिए सरकार को तुरंत इसे वापस कर पुरानी पेंशन योजना बहाल करनी चाहिए । इससे जीवन भर सरकारी सेवा करने वाले शिक्षक कर्मचारियों का भविष्य अंधकारमय हो गया है। जहां एनपीएस से लोंगो का भविष्य खराब हो रहा है वहीं निजीकरण से युवाओं का वर्तमान खराब हो रहा है। पीडब्ल्यूडी एशोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष भारत सिंह ने कहा प्रदेश ही नहीं पूरे देश में नई पेंशन योजना से रिटायर्ड कर्मचारियों के परिवार में आर्थिक संकट आ गया है ।

महामंत्री रामराज दुबे ने कहा निजीकरण की व्यवस्था से युवाओं का वर्तमान अंधकारमय है सरकारी संस्थान हांफने लगे है जोकि मध्यमवर्गीय जनता के साथ छलावा है।सिंचाई विभाग के वरिष्ठ नेता राम लाल यादव और ड्राइंग स्टाफ एसोसिएशन के अमित कुमार ने कहा कि अटेवा द्वारा पुरानी पेंशन बहाली के लिये किया जा रहा संघर्ष ऐतिहासिक है यह संघर्ष ही पुरानी पेंशन बहाल कराएगा। श्रम एवं सेवायोजन कर्मचारी परिषद के महामंत्री अमित कुमार यादव व यूपी पंचायती राज सफाई कर्मचारी संघ के वरिष्ठ नेता रामेंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि आज सफाई कर्मचारी से लेकर पुलिस कर्मचारी जनता की सेवा करता है फिर भी वह पेंशन से वंचित है यह कैसा न्याय।

अब इन कर्मचारियों को सरकार पुरानी पेंशन बहाल कर न्याय प्रदान करे। रैली को प्रमुख रूप से हैदराबाद से आये एनएमओपीएस के महासचिव स्थित जी. प्रजन्ना, मध्यप्रदेश के परमानंद डहेरिया, दिल्ली के मंजीत पटेल, दिल्ली सचिवालय के अधिकारी संघ के डी. एन. सिंह, हरियाणा से विजेंदर धारीवाल, कर्नाटक से रामनुजम पलेला, पंजाब से सुखविंदर सिंह, हिमांचल प्रदेश से नरेश ठाकुर, प्रदीप ठाकुर, भरत शर्मा ने संबोधित किया।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button