Breaking News

हिंदुस्तान ने अपनी जेलों में बंद कैदियों को इस दौरान किया रिहा

अपनी जेलों से 1,557 इंडियन कैदियों को रिहा किया है वहीं हिंदुस्तान ने अपनी जेलों में बंद को इसी दौरान रिहा किया है यह जानकारी केंद्र गवर्नमेंट ने बुधवार को लोकसभा में दी है

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी उन्होंने बोला कि 2018 (13 दिसंबर तक) में पाक से 174 इंडियन मछुआरों को रिहा किया गया जबकि, इसी अवधि में हिंदुस्तान से 28 कैदियों की रिहाई हुई

विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में बताया कि 15 दूसरे राष्ट्रों में कारागार में रहते हुए 40 इंडियन नागरिकों की मौत हो गई वहीं सुषमा स्‍वराज ने बताया कि 2017 में पाकिस्‍तान की जेलों से 7 इंडियन कैदी रिहा किए गए उसी वर्ष हिंदुस्तान की जेलों से 60 पाकिस्‍तानी नागरिकों की रिहाई की गई 2017 में ही पाकिस्‍तान की जेलों से 410 मछुआरे छोड़े गए जबकि हिंदुस्तान की जेलों से 9 पाकिस्‍तानी मछुआरों को रिहाई दी गई

के मुताबिक 2016 में पाकिस्‍तान ने दो इंडियन नागरिकों को रिहा किया जबकि हिंदुस्तान ने 10 पाकिस्‍तानी कैदियों को रिहा किया 2016 में ही पाकिस्‍तान की जेलों से 410 इंडियन मछुआरों को रिहा किया गया जबकि हिंदुस्तान ने अपनी जेलों में बंद 9 पाकिस्‍तानी कैदियों को रिहा किया 2015 में पाकिस्‍तान की जेलों में बंद 4 इंडियन नागरिकों को रिहा किया गया उसी वर्ष हिंदुस्तान की ओर से 44 पाकिस्‍तानी नागरिकों को रिहा किया गया था 2015 में ही पाकिस्‍तान ने 448 इंडियन मछुआरों को रिहा किया था वहीं हिंदुस्तान ले 115 पाकिस्‍तानी मछुआरों को रिहा किया था

सुषमा स्‍वराज के अनुसार 1 जुलाई, 2018 को पाकिस्‍तान से हुए दस्‍तावेजों के आदान-प्रदान के मुताबिक अभी भारती जेलों में 108 पाकिस्‍तानी मछुआरे  249 पाकिस्‍तानी नागरिक बंद हैं वहीं पाकिस्‍तान की ओर से जानकारी दी गई कि वहां की जेलों में 418 इंडियन मछुआरे  53 नागरिक बंद हैं

केंद्र गवर्नमेंट की ओर से लोकसभा में दी गई जानकारी के अनुसार विदेश के जेलों में 8,445 इंडियन नागरिक बंद हैं ये सभी 68 राष्ट्रों की जेलों में बंद हैं सर्वाधिक 2,224 इंडियनकैदी सऊदी अरब में बंद हैं इसके बाद 1,606 इंडियन कैदियों के साथ संयुक्‍त अरब अमीरात (यूएई) है वहीं तीसरे स्‍थान पर 1,065 इंडियन कैदियों के साथ नेपाल है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *