सपा और बसपा के वोट बैंक मे सेंध लगाएगी भाजपा

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल  : पश्चिम बंगाल में करारी शिकस्त के बाद भाजपा की नजरें 2022 में होने वाले पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव पर है। भाजपा का सबसे ज्यादा फोकस 403 सीटों वाली उत्तर प्रदेश विधानसभा पर है। इसके लिए केंद्र स्तर पर पीएम मोदी और राज्य स्तर पर सीएम योगी आदित्यनाथ कमान संभाले हुए हैं। सिर्फ हिंदुत्व ही नहीं गरीबों के लिए स्कीमों की बाढ़ भी भाजपा के गेम में शामिल है। इसी डबल गेम से भाजपा समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के वोटर बैंक पर सेंध मार सकती है।2022 यूपी विधानसभा पर देशभर की पार्टियों की नजरे हैं। सत्ताधारी भाजपा की नजर हिंदुत्व के अलावा ओबीसी वोटर पर भी है। मालूम हो कि 2017 विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 39.67 प्रतिशत वोट पाकर सत्ता पाई थी। भाजपा भी जानती है कि इस जीत में ओबीसी के सहयोग को नकारा नहीं जा सकता। 2004-05 के आंकड़ों की बात करें तो यूपी में एक बड़ा तबका ओबीसी वर्ग का है। ओबीसी की 36.6 प्रतिशत आबादी शहरों में और 32.9 प्रतिशत आबादी गांवों में रहती है। ये आंकड़ें पुराने हैं, निसंदेह इस वक्त ओबीसी का प्रतिशत भी बढ़ा है। ऐसे में भाजपा ओबीसी वर्ग को भी साथ लेकर अपनी जीत सुनिश्चित करना चाहती है।

वहीं, यूपी में अन्य पार्टियों (सपा, बसपा और कांग्रेस) की बात करें तो ओबीसी वर्ग इन तीनों वर्गों में बंटा है। ऐसे में भाजपा तमाम योजनाओं के दम पर इन पार्टियों के वोट पर सेंध मारने के लिए तैयार है। किसान सम्मान निधि योजना और कोरोना काल में शुरू की गई फ्री राशन योजना 2022 की जंग में भाजपा का बड़ा हथियार हो सकती हैं।

केंद्र के समर्थन के साथ यूपी सरकार ने प्रदेश की जनता को कई मुफ्त योजनाओं की सौगात दी है। जिसमें किसान सम्मान निधि और पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के अलावा विधवाओं और वरिष्ठ नागरिकों के लिए पेंशन, बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के लिए धन, अंत्योदय कार्ड योजना ( जिसमें प्रत्येक को पांच किलो चावल/ गेहूं, एक किलो दाल, एक लीटर सरसों का तेल, नमक और चीनी) प्रमुख रूप से शामिल है।

https://www.livehindustan.com/?jwsource=cl

बाराबंकी जिले में सफेदाबाद के पूर्व ग्राम प्रधान ज्ञान सिंह (यादव) कहते हैं कि भाजपा के पास इस चुनाव में बहुत कुछ कहने को है। मोदी और योगी सरकार की ओर से शुरू की गई तमाम योजनाओं का फायदा हर तबके को मिला है। वे 2022 के चुनाव में भाजपा का पलड़ा अन्य पार्टियों के मुकाबले ज्यादा भारी बताते हैं। वे कहते हैं कि किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को 6000 रुपए दिए गए। इसके अलावा कोरोना काल में जब भूख और बेरोजगारी ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया था, उस वक्त केंद्र सरकार की फ्री राशन योजना ने लोगों को सहारा दिया। ऐसी ही कई योजनाओं ने हर वर्ग का ध्यान भाजपा की ओर खींचा है।

हिंदुत्व के मुद्दे पर भी ज्ञान सिंह ने कहा कि उनका दिल कहां है। उन्होंने जोर देकर कहा, “अयोध्या मंदिर ने हिंदू गौरव को बहाल किया है। वहीं, सीतापुर जिले के अटारिया में रहने वाले छोटे व्यवसायी अजय कुमार भी राम मंदिर को एक बड़ी उपलब्धि करार देते हैं। उन्होंने कहा, यह हम हिंदुओं के लिए प्रतिष्ठा की बात है। यह हमारा भारत है जो मर्यादा पुरुषोत्तम राम की पूजा करता है। निसंदेह इससे भाजपा के वोटों का एकीकरण होगा।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button